कानूनी जानकारी वीडियो देखने के लिए subscribe कर सकते है ।

lawyerguruji

रेंट एग्रीमेंट-किरायेदारी अनुबंध कैसे लिखे -How to write a rent agreement in hindi

www.lawyerguruji.com

नमस्कार दोस्त,
आज इस पोस्ट में आप सभी को रेंट एग्रीमेंट लिखने का सही तरीका बताने जा रहा हु, जो की एक प्रभावशाली रेंट अग्रीमेंट कैसे लिखे।


रेंट एग्रीमेंट  (किरायेदारी अनुबंध)  कैसे लिखे। ( How to write a Rent agreement in Hindi.)

रेंट एग्रीमेंट होता क्या है ?
रेंट एग्रीमेंट एक ऐसा दस्तावेज है, जो की मकान मालिक और किरायेदार के बीच एक रिस्ता कायम करता है, जिसमे मकान  से सम्बन्घित उन हर बातों  का जिक्र होता है जिन पर किरायेदार को सहमत होना होता है, इस रेंट एग्रीमेंट में निन्म  बाते  सम्मिलित होती है जैसे की -

  1. रेंट एग्रीमेंट में सबसे पहले दोनों पक्षों का पूरा विवरण नाम, पिता का नाम , उम्र, स्थाई और अस्थाई पता यह सब जानकारी पूर्ण और सही लिखी जानी चाहिए।  
  2.  रेंट एग्रीमेंट में माकन से सम्बंधित उन शर्तो को लिखा जाता है, जिनके आधार पर मकानमालिक  अपने मकान को किसी किरायेदार को देता है।  
  3. मकान  का किराया कितना देना है। 
  4. महीने की किस तारीख को किराया देना है। 
  5.  मकान में क्या सुविधाएं है जैसे - पार्किंग, गार्डन एरिया, gym, और भी सुविधाएं जो उस मकान  में उपलब्ध हो। 
  6. मकान  की मरमम्त का कितना चार्ज देना होगा। 
  7. बिल्जी का बिल, पानी का बिल क्या मकान  के किराये के साथ ही जुड़ा है या अलग से देना होगा। 
  8. अतिरिक्त मासिक चार्ज कितना और किस महीने में देना होगा। 
  9. माकन कितने समय तक किराये पर दिया जाना है। 
  10. सिक्योरिटी deposit की कितनी रकम मकानमालिक को पहले देनी है। 
  11. यदि किराये दर मकान में कोई तोड़ फोड़ करता है, तो उसका भी खर्चा किरायेदार को ही देना होगा। 
  12. मकान  मालिक की अनुमति के बिना किरायेदार मकान  में कुछ अपनी तरफ से कोई नया  काम अपने हिसाब से नहीं करेगा। 
अब हम आपको रेंट एग्रीमेंट लिखने का तरीका बताते है की एक प्रभावशाली  रेंट एग्रीमेंट कैसे लिखे। 

किरयेदार अनुबंध 
(Rent Agreement)

प्रथम पक्ष का नाम , पिता का नाम, निवास स्थान, जिले का नाम , राज्य का नाम, पिन कोड।  
 .............................................................................................................................................................
प्रथम पक्ष / भवन सवामी 

एवं 

द्वितीय पक्ष का नाम, पिता का नाम , निवास स्थान , जिले का नाम , राज्य का नाम, पिन कोड।  

वर्तमान पता जहाँ  किरयेदारी पर रहना है। 

द्वितीय पक्ष। / किरयेदार 

  1. यह की प्रथम पक्ष भवन ( भवन स्थान  पूर्ण विवरण के साथ ) जो  की ( जिले का नाम और राज्य का नाम ) स्थित भवन का स्वामी है,
  2. यह की उपरोक्त भवन के कुछ हिस्से को  ( किराया )  प्रतिमाह  की दर से निवास करने हेतु द्वितीय पक्ष को किराये पर दे रहा है, जिसमे बिजली का बिल व्  पानी का बिल से सम्मिलित है ,
  3. यह कि  द्वितीय पक्ष द्वारा प्रत्येक माह की 01 से 07 तारीख के बीच उपरोक्त निर्धारित किराया प्रथम पक्ष को अदा कर दिया जायेगा,
  4. द्वितीय पक्ष अपने किरायेदार वाले भाग में कभी कोई शिकमी किरायेदार नहीं रखेगा, जिस उद्देश्य के लिए परिसर किराये पर लाया गया है, उसी उद्देश्य के लिए प्रयोग करेगा तथा किसी भी प्रकार का गैर विधिक या अनैतिक कार्य नहीं किया जायेगा ,
  5. यह की दिनांक (                )  से उपरोक्त भवन परिसर का प्रयोग कर रहा है और यदि भवन स्वामी अपना परिसर खाली करवाना चाहता हैहै तो वह बिना किसी नोटिस के द्वितीय पक्ष से खाली करवा सकता है ,
  6. बिना प्रथम पक्ष की अनुमति के किराये वाले भाग में कोई तोड़ फोड़ व् स्थाई फेर बदल नहीं किया जायेगा,
                                          अतः आज उभय पक्ष की सहमति के समक्ष गवाहान उभय  पक्षकारो ने अपने - अपने हस्ताक्षर बना कर यह किरायेदारी विलेख निष्पादित किया है, ताकि सनद रहे वक़्त पर काम आवे। 

दिनांक - (             )
                         
                                   प्रथम पक्ष :




                                  द्वित्यीय पक्ष :

 गवाह :-




नोट :-  यदि आपको कोई समस्या आती है , तो आप हमसे कमेंट करके पूछ सकते है। 







32 टिप्‍पणियां:

  1. हाँ, वह मकान मालिक हैं यदि उसके कहने पर आप उसका मकान ख़ाली नहि करते तो ऐसे में वो अपना मकान ख़ाली करवाने के लिए नोटिस भेज सकती हैं।

    जवाब देंहटाएं
  2. Excellent read, Positive site, where did u come up with the information on this posting?I have read a few of the articles on your website now, and I really like your style. Thanks a million and please keep up the effective work. Car Removals

    जवाब देंहटाएं
  3. Wow i can say that this is another great article as expected of this blog.Bookmarked this site.. Rent a car in Dubai

    जवाब देंहटाएं
  4. Sir building construction ka agreement upload kro. Owner and contractor ke bheec ka.plz

    जवाब देंहटाएं
  5. within a day we will publish an article related to the agreement between the contractor and the owner.

    जवाब देंहटाएं
  6. Mai koi shop kiraya par leta hu aur jamanat ke taur par 2 lakh malik ko deta hu to kya shop khali karne par wh paisa mujhe retourn hona chahiye

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. Rent agreement में अगर इस बात का उल्लेख करते है तो ज़मानत के तौर पर रखा पैसा वापस मिलेगा ।

      हटाएं
  7. there is a trust who is giving us a office setup for organisation with no charge how will it be its agreement matter. help me .

    जवाब देंहटाएं
  8. दोस्त को रुपये देने के लिए स्टेम पेपर मैं कैसे लिखना है एक फॉर्मेट प्रदान करने की कृपा करें

    जवाब देंहटाएं
  9. Medical Agency 1000 ke stamp pepper agrimant kaise banwaye

    जवाब देंहटाएं
  10. Sir what is the role off police in rent agreement..is one copy of agreement is also send to police station or not

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. The role of police is only tenant verification. Agreement is done between house owner and tenant so agreement copy is stained only between them.

      हटाएं
  11. अगर एग्रीमेंट खो जाए या कोई चुरा ले तो और हम बीच में ही रूम खाली करना चाहते हैं तो क्या करें

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. आप जब चाहे तब मकान खाली कर सकते है । बात रही किरयाएदारी अनुबंध के खो जाने या चोरी हो जाने की तो एक कॉपी मकान मालिक के पास होती है, आप उनसे लेकर उसकी फोटो कॉपी करा ले ।

      हटाएं
  12. उत्तर
    1. हाँ, रेंट एग्रीमंट मे दो गवाहों की जरूरत होती है ।

      हटाएं
  13. sir kiraye dar purna agrrment maang raha h... kya kare... usse dede

    जवाब देंहटाएं
  14. Hello Sir Mere Papa Ne Dukaan ko kiriyadar ko Rent Par Bina Agreement Ke dia hai kiriyadar 12 saal rent par hai woh dukaan khali nahi kar raha tu kia karen please sir help me my email id quraishimdshamsher@gmail.com

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. सबसे पहले थाने मे एक लिखित शिकायत करो,
      फिर भी काम न बने तो दिवानी के वकील से मिलकर दुकान ख़ाली करनवाने के लिए एक नोटिस भेजो ।

      हटाएं
  15. Agar mai room ek month ke liye reng par le rhi hu toh makan malik bol rha ap 1 month k liye bi agreement krbao krba lu? Nhi toh bad mai bole ki ap rho chahe mat rho 11 month ka rent dena pde????

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. 11 महीने का रेंट अग्रीमेंट बनता है यदि आप 1 महिना ही रहना चाह रही और मकान मालिक तैयार है तो 1 महीने का ही बनवा ले ।

      हटाएं
  16. एग्रीमेंट का नोटरी या कुछ रजिस्टर्ड करना भी जरूरी होता है क्या ???

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. नोटरी जरूरी नहीं की पंजीकृत कराये ।
      अग्रीमेंट 1 साल या उससे अधिक का बन रहा है तो उसका पंजीकृत होना आवश्यक है ।

      हटाएं
  17. Rent agreement 6month ka banvakar 2 month me khali kar sakte h

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. दोनों पक्षकारों की सहमति पर निर्भर करता है ।

      हटाएं
  18. Ager agriment 11 month ka hai to 11 month se phle khali krne pe bhi poora rent dena padega kya

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. जीतने महीने आप रहोगे उतने महीने का ही किराया आप दोगे ।

      हटाएं
  19. किराए के मकान की रंगाई पुताई का खर्च किसकी जिम्मेदारी है

    जवाब देंहटाएं

lawyer guruji ब्लॉग में आने के लिए और यहाँ पर दिए गए लेख को पढ़ने के लिए आपको बहुत बहुत धन्यवाद, यदि आपके मन किसी भी प्रकार उचित सवाल है जिसका आप जवाब जानना चाह रहे है, तो यह आप कमेंट बॉक्स में लिख कर पूछ सकते है।

नोट:- लिंक, यूआरएल और आदि साझा करने के लिए ही टिप्पणी न करें।

Blogger द्वारा संचालित.