कानूनी जानकारी वीडियो देखे

lawyerguruji

कार और बाइक के लिए सबसे अच्छी मोटर बीमा पॉलिसी कैसे चुने ? How to choose best motor insurance policy for bike and car

www.lawyerguruji.com

नमस्कार दोस्तों,
आज के इस लेख में आप सभी को बताने जा रह हु कि कार और बाइक के लिए सबसे अच्छी मोटर बीमा पॉलिसी कैसे  चुने? 
आज कल के इस दौड़ -भाग की जिंदगी में एक जगह से दूसरी जगह जाने के लिए वाहन की आवश्यकता होती है। ताकि किसी भी समय जब जरुरत पड़े, तो हम अपने निजी वाहन की मदद से जहाँ भी जाना चाहे जा सकते है। 
कार और बाइक के लिए सबसे अच्छी मोटर बीमा पॉलिसी कैसे चुने ? How to choose best motor insurance policy for bike and car.

जब भी हम अपनी आवश्यकता के हिसाब से वाहन खरीदते है, तो वाहन खरीदते समय हम उस वाहन के बारे में बहुत खोजबीन करते है। तब जाकर हम अपने लिए कार या बाइक खरीदते है। अब कार या बाइक लेने के बाद उसका बीमा भी करवाना आवश्यक हो जाता है, जो मोटर वाहन अधिनियम के तहत अनिवार्य कर दिया गया है। जिसके तहत सार्वजानिक स्थान पर चलने वाले हर वाहन का बीमित होना अनिवार्य है। यदि कोई भी व्यक्ति बिना बीमित वाहन चलाते पकड़ा जाता है, तो उस व्यक्ति के खिलाफ कड़ी से कड़ी कानूनी कार्यवाही की जाएगी। इस कानूनी कार्यवाही का मुख्य उद्देश्य भविष्य में ऐसी गलती न करे। 
कार और बाइक के लिए सबसे अच्छा मोटर बीमा पॉलिसी कैसे चुने। 

आप सभी अपने हिसाब से कार या बाइक बहुत खोजबीन कर के खरीद तो लेते है, पर जब बात इन्शुरन्स / बीमा की आती है, तो बीमा खरीदने से पहले खोजबीन नहीं करते। जब वाहन या आप किसी दुर्घटना के शिकार होते है, तो उस दुर्घटना में क्षति के मुआवजे के लिए इन्शुरन्स कंपनी में दावा करते है। तो बाद में मालूम होता है कि जो इन्शुरन्स पॉलिसी आपने अपने कार या बाइक के लिए ली थी, उसमे ऐसी दुर्घटनाये के होने पर कंपनी न तो जिम्मेदार है और न ही किसी प्रकार का कोई भी मुआवजा देगी। 

अब बात आती है कि कार और बाइक के लिए पॉलिसी लेने से पहले किन किन बातों पर ध्यान दे। 

1.  चुने भरोसेमंद बीमा कंपनी। 
बाइक या कार के लिए जब भी आप बीमा करवाए तो ध्यान देने वाली बात यह है की आप जिस बीमा कंपनी से अपने कार या बाइक के लिए बीमा पॉलिसी ले रहे हो वो भरोसेमंद है या नहीं है। जब भी एक भरोसेमंद बीमा कंपनी चुनेगे तो वह कंपनी अपने ग्राहकों के हित में ही कार्य करेगी और बीमा पॉलिसी से सम्बंधित हर एक छोटी से छोटी नियम व् शर्तो के बारे में आपको अवगत कराएंगी, ताकि बीमा दावा करते समय किसी दिक्कत का सामना न करना पड़े।

2. बीमा पॉलिसी का प्रीमियम। 
जब भी बीमा कंपनी चुनते है, तो उस बिमा कंपनी में बाइक या कार के लिए पॉलिसी भी कई प्रकार की होती है, पॉलिसी के आधार पर प्रीमियम का निर्धारण होता है।

3. कौन सी पॉलिसी लेना लाभकारी होगा। 
बाइक या कार लेने के बाद सबसे पहला काम रहता है, बाइक या कार को बीमित करना, ताकि भविष्य में कोई अनहोनी या दुर्घटना से होने वाली क्षति में बीमा कंपनी से आर्थिक सहायता मिल जाये। अब सवाल यह उठता है कि बाइक या कार के लिए कौन सी पॉलिसी ले। बिमा कंपनी द्वारा दो प्रकार की पॉलिसी के बारे में बताया गया है।
  1. व्यापक बीमा पॉलिसी। ( comprehensive insurance policy )
  2. तृतीय पक्ष दायित्व बीमा पॉलिसी। (third liability insurance policy)
4. व्यापक बीमा पॉलिसी क्या है ?
व्यापक बीमा पॉलिसी जो की नाम से ही मालूम होता है एक ऐसी बीमा पॉलिसी पॉलिसी जो की फैली हुई है। यह बीमा पॉलिसी कई प्रकार की दुर्घटनाओं को कवर करती है। 
  1. तृतीय पक्ष दायित्व को कवर करेगी:-  तृतीय पक्ष दायित्व मतलब की मोटर वाहन दुर्घटना होने पर किसी व्यक्ति की मृत्यु या शारीरक क्षति होती है, तो उस क्षति के प्रति बीमा कंपनी मुआवजा देगी।   
  2. ओन डैमेज :- यदि आपके ही किसी कार्य के द्वारा वाहन को क्षति होती है ,तो बीमा कंपनी उस क्षति के आधार पर मुआवजा देगी। 
  3. प्राकृतिक आपदाएं जैसे :-  बिजली चमकने पर क्षति, भूकंप, बाढ़, तूफान, चक्रवात, अओलावृष्टि, ठण्ड, भूस्ख्लन। 
  4. अग्नि के कारण हुई क्षति, स्वयं जलने से हुई क्षति, बाह्यसाधनों द्वारा आकस्मिक क्षति। 
  5. सड़क, रेल, अंतर्देशीय जलमार्ग, लिफ्ट या वायु द्वारा पारगमन में हुई क्षति। 
  6. वाहन के चोरी हो जाने पर मुआवजा। 
  7. दंगे के कारण हुई क्षति के प्रति मुआवजा।
  8. हड़ताल के दौरान वाहन में हुई क्षति के प्रति मुआवजा।
  9. दुर्भावनापूर्ण कार्य के द्वारा वाहन में हुई क्षति के प्रति मुआवजा।
  10. आतंकवादी गतिविधियों के कारण वाहन में  हुई क्षति के प्रति मुआवजा। 
5.तृतीय पक्ष दायित्व बीमा पॉलिसी क्या है ?
तृतीय पक्ष बीमा पॉलिसी जैस की नाम से ही मालूम होता है कि तीसरे पक्ष का बीमा। अब यह तीसरा पक्ष कौन होता है जिसके लिए हर कार बाइक वाला बीमा लेता है। तो चलिए ये भी जान ले की तीसरा पक्ष कौन है। वाहन बीमा पॉलिसी में बीमा कंपनी पहला पक्ष, दूसरा पक्ष वह व्यक्ति जो अपने कार बाइक के लिए बीमा लेता है और तीसरा पक्ष वह व्यक्ति होता है, जो वाहन दुर्घटना के कारण घायल होता है या जिसकी मृत्यु होती है। तृतीय पक्ष दायित्व बीमा पॉलिसी केवल तीसरे व्यक्ति के प्रति हुए नुकसान की ही भरपाई करती है। 
  1. यह बीमा पॉलिसी आपके वाहन से दूसरे व्यक्ति या उसकी संपत्ति को हुई क्षति को ही कवर करती है। 
  2. यदि वाहन दुर्घटना के कारण आपको या आपके वाहन को क्षति होती है, तो कोई मुआवजा नहीं मिलेगा। 
  3. ओन डैमेज यानि स्वयं से वाहन में हुई क्षति के प्रति बीमा कंपनी जिम्मेदार नहीं होती है। 

कोई टिप्पणी नहीं:

lawyer guruji ब्लॉग में आने के लिए और यहाँ पर दिए गए लेख को पढ़ने के लिए आपको बहुत बहुत धन्यवाद, यदि आपके मन किसी भी प्रकार उचित सवाल है जिसका आप जवाब जानना चाह रहे है, तो यह आप कमेंट बॉक्स में लिख कर पूछ सकते है।

नोट:- लिंक, यूआरएल और आदि साझा करने के लिए ही टिप्पणी न करें।

Blogger द्वारा संचालित.