fir दर्ज कराने के लिए लिखित में दी जाने वाली प्रार्थना पत्र कैसे लिखे । How to write fir application

www.lawyerguruji.com

नमस्कार दोस्तों,
आज के इस पोस्ट में आप सभी को " F.I.R'  दर्ज कराने के लिए लिखित में दी जाने वाली प्रार्थना पत्र कैसे लिखा जाये इसके बारे में बताने जा रहा हु ।  अक्सर क्या होता है, जब भी कोई घटना घटित होती है तो पीड़ित पक्षकार उस घटना की जानकारी अपने नजदीकी पुलिस स्टेशन में जा कर मौखिक रूप में देता है या तो उस पूरी घटना को लिखित रूप में देता है। और वह जानकारी पुलिस स्टेशन के थाना प्रभारी के द्वारा लिखी जाती है और उसकी एक कॉपी पीड़ित को निःशुल्क  दी जाती है। तो कहा जाता है की पीड़ित द्वारा प्रथम सूचना रिपोर्ट लिखवाई गयी है। 
 F.I.R'  दर्ज कराने के लिए लिखित में दी जाने वाली प्रार्थना पत्र कैसे लिखे ।


प्रथम सूचना रिपोर्ट क्या होती है ?
 क्रिमिनल प्रोसीजर कोड 1973 की धारा 154 में "प्रथम सूचना रिपोर्ट" लिखे जाने का प्रावधान दिया है, देश के हर राज्य के जिले के और गांव में बने थाने के पुलिस इंचार्ज की यह ड्यूटी और कर्तव्य है की यदि कोई भी पीड़ित व्यक्ति या तो उस पीड़ित व्यक्ति का कोई सगा सम्बन्धी या परिवार वाला या उसका कोई मित्र किसी घटना की सूचना पुलिस स्टेशन मे मौखिक या लिखित रूप में देता है, तो उस सूचना के आधार पर पुलिस स्टेशन के पुलिस इंचार्ज  को प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज करना अति आवश्यक है और लिखित रिपोर्ट को एक बार सूचना देने वाले व्यक्ति के समक्ष पढ़ कर सुनाना होगा और उस रिपोर्ट में उस व्यक्ति के हस्ताक्षर होंगे। 

 F.I.R. लिखवाने के लिए दी जाने वाली एप्लीकेशन कैसे लिखे। 

यदि आपके साथ कोई ऐसी आपराधिक घटना घटती है, और आप उस व्यक्ति के खिलाफ कानूनी कार्यवाही कर उसको न्यायालय से दण्डित करवाना चाहते है या घटना के दौरान हुई क्षति का प्रतिकर लेना चाहते है, तो आपको उस व्यक्ति के खिलाफ सबसे पहले पुलिस स्टेशन में प्रथम  सूचना रिपोर्ट लिखवानी होगी। 

तो, चलिए जानते है कुछ बिंदुओं के बारे में जब प्रथम सूचना रिपोर्ट लिखवाने के लिए दी जाने वाले प्रार्थना पत्र में क्या लिखा जाता है।
  1.  सबसे पहले तो उस  पुलिस स्टेशन का नाम जिसमे आपको घटना की जानकारी देनी है, यह उस पुलिस स्टेशन का नाम जो आपके नजदीकी क्षेत्र का होगा।  
  2. पीड़ित अपना नाम और अपने पिता का नाम और अपने निवास स्थान का पूरा स्पष्ट पता।
  3. यदि कई पीड़ित है तो उनका सबका नाम।  
  4. घटना घटित होने का समय, तारीख और दिन। 
  5. घटना घटित होने वाले स्थान की पूरी जानकारी। 
  6. अपराध या घटना कारित करने वाले व्यक्ति का पूरा नाम, उसके पिता का नाम और निवास स्थान। 
  7. अपराध कारित करने में यदि एक से ज्यादा  थे तो उनका भी पूरा नाम व् पता। 
  8. घटना या अपराध घटित होने का मुख्य कारण क्या था। 
  9. यदि कोई ऐसा व्यक्ति मौजूद था उस घटना के घटने के समय तो उस व्यक्ति का नाम। 
  10. पीड़ित पक्षकार के चोटे कैसे आयी क्या कोई हथियार मर पीट में इस्तेमाल किया गया तो उस हथियार का वर्णन। 

यहाँ तो मैंने आपको उन मुख्य बिंदुओं के बारे में बताया है की प्रथम सूचना रिपोर्ट लिखवाने के लिए दिए जाने वाले प्रार्थना पत्र में क्या क्या लिखा जाना चाहिए। 

एक प्रार्थना पत्र के माध्यम हम आपको और अच्छे तरीके से समझाते है। 

सेवा में,
          श्रीमान थाना प्रभारी निरिक्षक महोदय,
         ( जिस थाने में सूचना देनी उस थाने का नाम व् पता  )

विषय :-   ( सूचना देने का आधार क्या है वह लिखे ) 

द्वारा :  श्रीमान ( सूचना देने वाला अपना नाम यहाँ लिखे)

महोदय ,

             निवेदन है कि प्रार्थी  ................................................................................................................
..............................................................................................................................................................
( ऊपर बताये गए F I R में लिखी जाने वाली बिंदुओ के आधार के अनुसार विवरण दे ).

अतः श्रीमान जी से निवेदन है कि इस सन्दर्भ में एफ.आई.आर दर्ज कर उचित कार्यवाही करने की कृपा की जाये ।
                                                                                                                                         प्रार्थी
                                                                                                                                    नाम :-
                                                                                                                                    पता :

दिनांक
(                       )

नोट :- आई डी कार्ड की फोटो कॉपी संलग्न करे। 
fir दर्ज कराने के लिए लिखित में दी जाने वाली प्रार्थना पत्र कैसे लिखे । How to write fir application fir दर्ज कराने के लिए लिखित में दी जाने वाली प्रार्थना पत्र कैसे लिखे । How to write fir application Reviewed by Advocate Pushpesh Bajpayee on October 10, 2018 Rating: 5

4 comments:

  1. Is fraud ke liye aap bihar police examination board ko bataye.

    ReplyDelete
  2. Very useful and narrative information

    ReplyDelete
  3. Sir, agar koi महिला रोज गली दे , तने मारे किसी के थ्रू धमकी दे मरवाने की तो क्या करे

    ReplyDelete
    Replies
    1. इस मामले से सम्बंधित शिकायत थाने में दर्ज करा दें।

      Delete

lawyer guruji ब्लॉग में आने के लिए और यहाँ पर दिए गए लेख को पढ़ने के लिए आपको बहुत बहुत धन्यवाद, यदि आपके मन किसी भी प्रकार उचित सवाल है जिसका आप जवाब जानना चाह रहे है, तो यह आप कमेंट बॉक्स में लिख कर पूछ सकते है।

नोट:- लिंक, यूआरएल और आदि साझा करने के लिए ही टिप्पणी न करें।

Powered by Blogger.