कानूनी जानकारी वीडियो देखे

lawyerguruji

मूट कोर्ट किसे कहते है मूट कोर्ट से विधि के छात्रों को क्या सीखने को मिलता है Whats is Moot Court

www.lawyerguruji.com

नमस्कार दोस्तों,
आज के इस पोस्ट में आप सभी को मूट कोर्ट के बारे में बताने जा रहा हु कि मूट कोर्ट किसे कहते है ? Whats is Moot Court ? बार कौंसिल ऑफ इंडिया ने विधि शिक्षा में परिवर्तन लाने के लिए विधि पाठ्यक्रम में मूट कोर्ट को शामिल किया।  मूट कोर्ट एक काल्पनिक या कृत्रिम कोर्ट कह सकते है, जो की बिलकुल न्यायालय की तरह ही दिखती है।  मूट कोर्ट का गठन विधि विद्यालयों में इसीलिए होता है ताकि विधि के छात्रों को ज्ञान हो की न्यायालय का  कार्य कैसे होता है।
मूट कोर्ट किसे कहते है ?  Whats is Moot Court ?

मूट कोर्ट में होता क्या है ?

  1. विधि के छात्रों द्वारा किसी विशिष्ट वाद या विषय को चुना जाता है और फिर उसी वाद/ विषय में वाद विवाद होता है,
  2. कुछ विधि के छात्रों के द्वारा अधिवक्ता, वादी प्रतिवादी और साक्षी की भूमिका निभाते है और न्यायालय के समक्ष आते है,
  3. विधि के छात्रों में से ही एक कोई छात्र न्यायिक अधिकारी की भूमिका निभाता है और न्यायालय की कार्यावाही को आगे बढ़ाता है ,
  4. छात्रों को सिविल केस में वाद पत्र तैयार करने, साक्षियों के परिक्षण एवं प्रतिपरीक्षण करने के साथ जिरह /  बहस करने का भी मौका / अवसर है,
  5. आपराधिक मामलो  में परिवाद और आरोप पत्र तैयार करने का ज्ञान प्राप्त होता है,
  6. न्यायालय में कैसे पेश होना है, कैसे केस दायर करना है और शुरवात कैसे करनी इसका भी ज्ञान होता है,
  7. न्यायालय के समक्ष बोलने में जो संकोच और डर मन में होता है वह मूट कोर्ट के जरिये समाप्त हो जाता है,
मूट कोर्ट से विधि के छात्रों को क्या सीखने को मिलता  है ?
  1. न्यायालय में प्रस्तुत होना का ढंग।  
  2. अभिवचन का प्रारूप।  
  3. वादपत्र की विरचना। 
  4. लिखित कथन एवं इसका प्रारूप।  
  5. विचारण से पहले की तैयारी।  
  6. विचरण की कार्यावाही।  
  7. अभिवचन प्रस्तुत करने का ढंग।  
  8. न्यायालय की कार्यावाही और उससे सम्बंधित शिष्टाचार कैसा होना चाहिए।  
  9. न्यायालय में न्यायाधीश के समक्ष अपनी बात को प्रस्तुत करने का ढंग। 
  10. न्यायालयों में होने वाली विभिन्न कार्यवाहियों का ज्ञान।  
  11. जिरह व् बहस  करने का ज्ञान और ढंग।  
  12. पक्षकारो और साथियों  से किये जाने वाले व्यवहार  का ढंग। 
  13. न्यायालय की गरिमा को बनाये रखने का ज्ञान।  
  14. व्यावसायिक शिष्टाचार का  ज्ञान।  
  15.  सुसंगत विधियों का ज्ञान।  
  16. अधिवक्ताओ की आचार संहिता आदि। 

6 टिप्‍पणियां:

  1. काल्पनिक तथ्यों के आधार पर मूट कोर्ट की क्या समस्यायें हैं ?

    जवाब देंहटाएं
  2. What are the moot court problems on the basis of imaginary facts ?

    जवाब देंहटाएं
  3. उत्तर
    1. मूट कोर्ट विधि विद्यालयों द्वारा विधि के छात्रों के अभ्यास के लिए आयोजित कराई जाती है ।

      न्यायालय में असल वाद विवाद सम्बंधित मामले आते है , जिसमें पीड़ित पक्ष या पक्षकार अनुतोष की प्राप्ति के लिए बार काउन्सिल से पंजीकृत अधिवक्ता के माध्यम से न्यायालय में वाद दायर करवाते है ।

      हटाएं
  4. मूट कोर्ट को गठित करने एवं संचालन करने की विधि

    जवाब देंहटाएं
  5. मूट कोर्ट को गठित करने एवं संचालन करने की विधि

    जवाब देंहटाएं

lawyer guruji ब्लॉग में आने के लिए और यहाँ पर दिए गए लेख को पढ़ने के लिए आपको बहुत बहुत धन्यवाद, यदि आपके मन किसी भी प्रकार उचित सवाल है जिसका आप जवाब जानना चाह रहे है, तो यह आप कमेंट बॉक्स में लिख कर पूछ सकते है।

नोट:- लिंक, यूआरएल और आदि साझा करने के लिए ही टिप्पणी न करें।

Blogger द्वारा संचालित.