SIM SWAP FRAUD : एक मैसेज भेजने से खाली हो सकता है आपका बैंक एकाउंट।

www.lawyerguruji.com

नमस्कार दोस्तों ,
आज इस पोस्ट में आप सभी को साइबर हमले से बचने के बारे में बताने वाला हु, क्योकि ये साइबर अटैकर (Cyber  Attacker) हर रोज नया - नया  तरीका खोज ही लेते है, लोगो को कैसे शिकार बनाया जाये।

लगभग इस दुनिया में सभी लोग अब मोबाइल का इस्तेमाल कर रहे है, क्योकि मोबाइल फ़ोन ने जैसे लोगो के कामो को आसान बना दिया है, वही दूसरी तरफ साइबर अटैकर इसका गलत इस्तेमाल उठा कर लोगो को नुकसान पहुचाने की सोचा करते है और हर रोज नया  तरीका खोज ही लेते है।

हम आपको कुछ साइबर अटैक के कुछ उदहारण बताते है, जिनके बारे में आप सभी लोगो को जानकारी हो गयी होगी।
  1. क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड से धोखा धड़ी। 
  2. ऑनलाइन धोखा  धड़ी। 
  3. आधार कार्ड  को बैंक अकाउंट से लिंक कराने  वाले जाली फ़ोन कॉल। 
  4. क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड की एक्सपायरी ( Expire) से सम्बंधित जाली कॉल। 
  5. और अन्य तरीके रोज न रोज ये साइबर अपराधी खोजा  ही करते है। 
एक नया साइबर फ्रॉड  SIM  SWAP FRAUD

साइबर अपराधियों का एक नया  हथियार SIM  SWAP FRAUD : एक मैसेज भेजने से खाली हो सकता है आपका बैंक एकाउंट।

क्या है ये SIM  SWAP  FRAUD और ये  कैसे होता है ?
अब तो लगभग हर बच्चा, बूढ़ा , और  जवान हर व्यक्ति  मोबाइल का इस्तेमाल कर रहा है,   कभी का कभी ये भी होता है की मोबाइल का इस्तेमाल करते करते सिग्नल ( MOBILE  NETWORK ) चला जाता है, और लम्बे समय के लिए नेटवर्क नहीं आता है और  आप परेशान  होने भोजन लगते है की अब क्या किया जाये की सिंगनल (signal) वापस आ जाये, तभी अचानक network का signal  आ जाता है,  और singal  आने के तुरंत बाद ही आपके नंबर पर एक फ़ोन आता है, और फ़ोन करने वाला व्यक्ति अपने  आप को customer  care  वाला बताता है, जिस  नेटवर्क कंपनी  का SIM  आप इस्तेमाल कर रहे होते है।  वह आपसे यह सवाल करता है की  क्या आपके फ़ोन में अभी कोई दिक्कत आई थी ?आपका जवाब हां में  होता है। 

साइबर अपराधी : उधर से ये साइबर अपराधी आपको इस दिक्कत के बारे में बताते है की ऐसा होने का क्या कारण था।  
वह बोलता है की, आपके फ़ोन में बार बार सिग्नल जाने का कारण यह की है नेटवर्क में कुछ दिक्कत आ रही है, 
 इसे ठीक करने की जरुरत है।

आप : नेटवर्क की इस समस्या को कैसे ठीक करा जाये , क्या करना होगा की  इस समस्या से निजात मिल जाये। 
साइबर अपराधी :  आपको फ़ोन में ही कॉल के दौरान ही  किसी  एक नंबर को दबाने को कहेगा, या फिर आपको कहेगा की आपको एक मैसेज भेजा जायेगा जिसका जवाब आपको  "1 " दबा कर देना है, यह सब करने पर आपका नेटवर्क रिसेट हो जायेगा, signal  फिर से आज जायेगा यह और यह दिक्कत दूर हो जाएगी। 

आप :  आप क्या करते है उस साइबर अपराधी की बातो में आकर फस  जाते है  और जैसा जैसा वह आपको करने को कहता है , वह सब आप करते जतए है , कारण यह की आप फ़ोन का न चलने को लेकर परेशान ३ रहते है। 

साइबर अपराधी के द्वारा  कहने  पर जब आप अपने फ़ोन से मैसेज भेजते है तो  कुछ ही देर के बाद फिर से आपके फ़ोन के नेटवर्क का  signal  फिर चला जाता है।
अगले दिन आपको इस बात की जानकारी होती है, की आपके बैंक खाते  से सारा का सारा पैसा निकल गया और बैंक खाता  पूरी तरह से खली हो चुका  है। इस बात की जानकारी आपको इसलिए नहीं हो पाती समय पर क्योकि आपका फ़ोन बंद रहता है जिसके कारण से आपको आपके बैंक अकाउंट से रुपया निकलें की जानकारी नहीं हो पाती है। 

ये साइबर अपराधी कैसे लोगो को शिकार बनाते है ?
  1. ये साइबर अपराधी सबसे पहले फ़र्ज़ी  मेल, मैसेज ,के जरिये से आपकी निजी जानकारी के बारे में पता करते है , अपना नाम ,पता, फ़ोन नंबर, बैंक अकाउंट सम्बंधित जैसी  जानकरी  को मालूम करते है।  
  2. फिर ये साइबर अपराधी आपके बारे में facebook, Twitter, Instagram जैसी अन्य सोशल networking  साइट से आपकी निजी जानकारी निकाल लेते है,  जन्मदिन, परिवार के लोगो का नाम , पैन नंबर, आधार कार्ड नंबर और अन्य जानकारी।  
  3. इन्ही जानकारियों के आधार पर ये साइबर अपराधी आपके बैंक अकाउंट के पासवर्ड का अंदाजा लगाते  है, और इस प्रकार की कई जानकारियों के जरिये ये साइबर अपराधी आपके बैंक अकॉउंट का पासवर्ड रिसेट कर देते है।  
  4. यह सब रिसेट करने के बाद इनको  OTP की जरुरत पड़ती है , जिसके लिए SIM  काम आता है। 
  5. आपकी निजी जानकारी  आधार कार्ड  के जरिये से आपके नाम पर डुप्लीकेट SIM  कार्ड  निकलवा लेते है ,  जिसके लिए वह आपके मोबाइल ऑपरेटर को SIM खो जाने या चोरी हो जाने की जानकारी दे है।  
  6. डुप्लीकेट SIM  लेने के बाद ये आपके बैंक अकाउंट में लॉगिन करते है और डुप्लीकेट SIM  के जरिये से ये आपके बैंक अकाउंट का OTP पा लेते है और बैंक अकाउंट खाली कर देते है।  
  7. इस बीच फ़ोन बंद होने की वजह से आपको इसकी जानकारी नहीं मिल पाती है।  आपको  यह भी नहीं पता चल पाता है की आपके बैंक अकाउंट का OTP  डुप्लीकेट SIM  पर जा रहा है।  
  8. जब आपको मालूम होता है और बैंक के पास जाते है या कंपनी में फ़ोन करते है , तब तक ये साइबर अपराधी अपना काम कर चुके होते है।  
साइबर अपराध  SIM SWAP FRAUD  से बचने के उपाए।  
  1. किसी भी अनजान व्यक्ति के द्वारा भेजे गए मैसेज का उत्तर न दे। 
  2. अनजान  E- mail  को कभी भी खोल कर यह न देखे की इसमें क्या है। 
  3. E -mail के जरिये  यदि कोई file सेंड करता है जिसको की आप नहीं जानते है की यह mail  किसने भेजी है, ऐसी mail  को कभी न खोले क्योकि इस file के जरिये हैकर एक ऐसा प्रोग्राम भेज देते है जो की आपके कंप्यूटर में डाउनलोड हो जाता है और आपकी जानकारी के बिना आपकी निजी जानकारी हैकर तक पहुँचती रहती है।
  4. जब भी आप अपने बैंक अकाउंट लॉगिन करे तो सीधे बैंक की साइट को खुद इंटर करे न किसी लिंक के द्वारा बैंक की वेबसाइट को खोले।   
  5. किसी अनजान व्यक्ति को E-mail , फ़ोन और मैसेज के जरिये बैंक अकाउंट की जानकारी न दे। 
  6. यदि व्यक्ति यह दवा करता है की वह बैंक का कर्मचारी है, तो भी कोई जानकारी न दे। 
  7. किसी भी अनजान व्यक्ति के कहने पर फ़ोन पर न तो कोई नंबर दबाए  और न ही मैसेज का reply दे। 
  8. सोशल मीडिया पर आप अपनी निजी जानकारी कभी भी किसी व्यक्ति से share  न करे, और न ही अपनी निजी जानकारी के बारे में अनजान लोगो को बताये।  
  9. यदि आपके फ़ोन के नेटवर्क का सिग्नल चला जाता है और काफी देर तक सिग्नल नहीं आता है, तो तुरंत अपने नजदीकी SIM SERVICE CENTER में जा कर इसकी सूचना दे और अपना बैंक अकाउंट और कार्ड को ब्लॉक कर दे। 
  10. यदि अनजान व्यक्ति के द्वारा आपको लगातार फ़ोन आता है, तो मोबाइल को बंद न करे और इसकी सूचना अपने नजदीकी पुलिस थाने  को दे।  
SIM SWAP FRAUD : एक मैसेज भेजने से खाली हो सकता है आपका बैंक एकाउंट।  SIM  SWAP FRAUD : एक मैसेज भेजने से खाली हो सकता है आपका बैंक एकाउंट।   Reviewed by Lawyer guruji on May 30, 2018 Rating: 5

No comments:

Thanks for reading my article .

Powered by Blogger.