कानूनी जानकारी वीडियो देखे

lawyerguruji

ncr क्या है पुलिस द्वारा ncr कब दर्ज किया जाता है When police register complaint as ncr non cognizable report

www.lawyerguruji.com

नमस्कार दोस्तों,
आज के इस लेख में आप सभी को " एनसीआर" ,"N.C.R" के बारे में बताने जा रहा हु कि एनसीआर होता क्या है, 
अक्सर आप लोग सुनते होंगे की पुलिस द्वारा किसी अमुक व्यक्ति के खिलाफ थाने में एनसीआर दर्ज कर ली गयी है। एनसीआर का नाम सुनते ही आपके मन में कई तरह से सवाल उठने शुरू हो जाते है, जैसे कि 
  1. एनसीआर होता क्या है ?
  2. एनसीआर का फुल फॉर्म क्या है ?
  3.  पुलिस द्वारा एनसीआर कब दर्ज किया जाता है ?
और इन सवालों के जवाब भी आप जानना चाहेंगे है, क्योकि अगर आपको इन सवालों के जवाब पता होंगे तो, कहीं भी यदि एनसीआर का जिक्र या बात होगी तो आप इसके बारे में अन्य लोगो को भी अच्छे से बता पाएंगे जिनको इसके सम्बन्ध में जानकारी नहीं  है। 
एनसीआर क्या है  पुलिस द्वारा एनसीआर कब दर्ज किया जाता है When police register complaint as ncr non cognizable report
ncr क्या है और पुलिस द्वारा एनसीआर कब दर्ज की जाती है 
एनसीआर क्या होता है ?
भारतीय कानून में अपराधों को निम्न श्रेणियों में विभाजित किया गया है, यह विभाजन अपराधों की प्रकृति के आधार पर किया गया है।
  1. संज्ञेय अपराध और असंज्ञेय अपराध।
  2. जमानतीय अपराध और गैर जमानतीय अपराध। 
  3. समझौते योग्य अपराध और असमझौते योग्य अपराध। 
जब असंज्ञेय अपराध से सम्बंधित घटना की सूचना थाने में देकर उस सूचना के आधार पर शिकायत दर्ज कराई जाती है, तो ऐसे में पुलिस उस सूचना के आधार पर प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज करती है, और उसकी एक कॉपी शिकायतकर्ता को निःशुल्क देती है। FIR दर्ज हो जाने के बाद पुलिस उस घटना की जाँच प्रारम्भ कर उसकी रिपोर्ट सम्बंधित न्यायालय में पेश करती है। 

यदि यही असंज्ञेय अपराध अधिक गंभीर न होकर छोटे मोटे मामले के अपराध होते है, जैसे छोटी मोटी चोरी, हलकी फुलकी लड़ाई जिसमे अत्यधिक चोटे या गंभीर चोटे न आयी हो या कोई भी चोटे न आयी हो, या मामूली सा झगड़ा, आदि। 

ऐसी घटना के घटित हो जाने पर पीड़ित पक्ष/व्यक्ति इस घटना की सूचना थाने में देकर शिकायत दर्ज करता है, तो ऐसी शिकायत को पुलिस "एनसीआर","NCR " non-cognizable report के रूप में दर्ज कर लेते है। 

 NCR का फुल फॉर्म Non -cognizable report है। 

पुलिस द्वारा एनसीआर कब दर्ज की जाती है ?

  1. मोबाइल चोरी या खो जाने पर,
  2. मामूली लड़ाई,
  3. मामूली सा झगड़ा,
  4. आदि मामूली अपराध। 

पुलिस द्वारा एनसीआर कब दर्ज की जाती है इसको हम एक उदाहरण से समझने का पूरा प्रयास करते है,

जब किसी व्यक्ति का कोई सामान चोरी हो जाता है या खो जाता है, तो ऐसे में जिस व्यक्ति का सामान चोरी या खो जाता है ,तो इस घटना की सूचना के आधार पर पीड़ित व्यक्ति थाने में शिकायत दर्ज करवाने जाता है, तो ऐसे में घटना की सूचना के आधार पर पुलिस सामान्यतः एनसीआर non-cognizable report दर्ज करती है, क्योकि ऐसे अपराध की प्रकृति कम गंभीर होती है। एनसीआर दर्ज हो जाने के बाद पुलिस शिकायतकर्ता को इस रिपोर्ट की एक निःशुल्क कॉपी देती है।  

एनसीआर दर्ज हो जाने के बाद की प्रक्रिया ?
पुलिस द्वारा घटना की सूचना के आधार पर एनसीआर दर्ज कर लेने के बाद, पुलिस मामले की जाँच और खोज बीन में लग जाती है। जाँच और ख़ोजबीन के आधार पर पुलिस उस घटना से समबन्धित रिपोर्ट बनाती है और इस रिपोर्ट को सम्बंधित न्यायालय में पेश करती है। यदि जाँच या खोज बीन के दौरान चोरी या खोई हुई संपत्ति की रिकवरी हो जाती है, तो ऐसे में पुलिस उस संपत्ति को कानूनी औपचारिकताएं पूरी हो जाने के बाद शिकायत करता को सौंप  देती है। 

यदि चोरी या खोई हुई संपत्ति खोजबीन के दौरान रिकवरी नहीं हो पाती तो ऐसे में पुलिस अपनी रिपोर्ट में संपत्ति की रिकवरी न हो पाने का कथन कर रिपोर्ट को न्यायलय के समक्ष दाखिल कर देती है। 

50 टिप्‍पणियां:

  1. श्रीमान जी,


    पुलिस ने घटना के आधार पर धाराएं नहीं लगाई है।
    तो मुझे क्या करना चाहिए।

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. सक्षम न्यायालय में अधिवक्ता द्वारा 156 (3) दर्ज करा सकते है जिससे न्यायालय पुलिस को निर्देशित करेगा वास्तविक धाराओं में मुकदद्मा पंजीकृत करे, ज़्यादा जानकारी के लिए समपर्क करे 7503514482 विकास सिंह रावल (अधिवक्ता)

      हटाएं
  2. Sir ydi marpit me kisi vykti ki Death Ho gai to Marne vale ko Kaun si saja hogi jail se chhoote GA ki nhi

    जवाब देंहटाएं
  3. Ncr ko Court me kitne hour's me pesh karna padta hai

    जवाब देंहटाएं
  4. Hello Sir
    Mere bhai ko ek faimliy ने apne दरवाजे के aage करीब rat ke 10.pm ikla dekh ke mara उन्हें गम्भीर चोट आयी है हमने थाने रिपोर्ट. लिख बाई hai. थाने बालो ne F.I.R. Likhne जगह. N. C. R. Report लिखी है. अब पुलिस. उन्हें पकड़ bhi nahi रही है नहीं kuch कार्य बाई. Kar रही और. Or बिना पकड़े unpe दो धारा लगाई है 323to 506. अब पुलिस केस ko घुमा रही hai.

    Hello Sir

    Ab kiya kare hame आप बताओ जिससे Bo पकड़ा जाए और kuch कार्य बाई ho yese करे

    Jay हिन्द Sir
    Vineet Sagar

    जवाब देंहटाएं
  5. मेडिकल कराया अपने भाई का ?
    एसपी को एक लिखित शिकायत करो।

    जवाब देंहटाएं
  6. उत्तर
    1. कोर्ट मे किसी वकील से मिलकर जमानत के लिए बात करो ।

      हटाएं
    2. Sir marpit ke bad jo thane se ncr hota hai wah online net pe hota hai ya type karke nikala jata

      हटाएं
  7. Sir marpit ke bar thane se jo ncr hota hai wah online feed hota hai ya kewal computer dwara type karke nikala jata hai

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. यदि शिकायत आपने दर्ज कराई है तो थाने जाकर वहाँ से थाना प्रभारी से या जो पुलिस कर्मचारी उस समय मोजूद हो उससे संपर्क कर एनसीआर की कॉपी प्राप्त करे ।

      हटाएं
  8. सर अगर जीस आदमी के नाम पे 8 से 9 एन सी आर हो उसपे क्या लिगल कारवाही कर सकते हैं?

    जवाब देंहटाएं
  9. sir ek marpeet k case me police ne mujhpe pehle dhra 151 me challan kr diya kal maine tahsel se Jmanat krayi or aaj usi case me dobara NCR dhara 323 or 504 or laga kr presan kr rhe

    जवाब देंहटाएं
  10. Mera padosi humare liye bina naam liye humara bolta rehta hai ki murder karenge inka tab aise main kya karna chaiye

    जवाब देंहटाएं
  11. Sir jhagda hone ke bad jo thane se ncr hota hai uska record thana or tahsil tak rahta hai ya fir court me bhi chala jata hai sir batana pl

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. पूरा मामला क्या है, क्यो एनसीआर दर्ज की गयी ?

      हटाएं
  12. Sir padosi se jhagda ho gya or thane se police ne ncr kr diya hai mukdma khatm hone ke bad thane se record hat sakta hai ki nhi

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. मुकदमे के समापन के बाद भी थाने से कोई अभिलेख नहीं हट सकता ।

      हटाएं
    2. Ser mera silection upp me hua h jis vajah se meri bhabhi ke pita ne jhootha kes kar diya h police ne ncr laga d h mera medical bhi najdik a raha h me kya karu 7818035109pleas help

      हटाएं
  13. Mere bhai k khilaf NCR hui hai 325 but uski arresting ni hui qki meri behan ko woh bnda maar rha tha toh hmne usko peeta aur ulti hmpe he NCR kaati aur hmne b counter NCR krdi hai but arresting dono trf se ni hui

    जवाब देंहटाएं
  14. Sir agar ncr case ho Jaye to govarment job Nahi mil sakta kya...

    जवाब देंहटाएं
  15. Sir agar ncr case ho Jaye to govarment jo lagane Vali hai..uspe kya Asar Hoga ncr case ka

    जवाब देंहटाएं
  16. एनसीआर से केरक्टर सर्टिफिकेट पर कुछ एफेक्ट पड़ता है क्या

    जवाब देंहटाएं
  17. Ncr ho jane k baad or case khatm ho jane k baad bhi kya govt job lagne pe jo police verification hota h,toh usme kya ncr k wajah se koi problem ho sakti hai?

    जवाब देंहटाएं
  18. Sir mere naam farji ncr register ho gayi hai Thane me mera govt job k liye police verification hona hai December mein koi dikkat to nhi hogi mere naam marpit ka farji ncr register ho gaya hai

    जवाब देंहटाएं
  19. सर , बहुत जगह देखा जाता है कि पुलिस सनहा या NCR दर्ज करने के लिए पैसे या घुस मांगते है। तो हमें उस स्थिति में क्या कदम उठना चाहिए??

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. एस॰पी॰ को शिकायत करो फिर भी समाधान न हो तो डी॰एम॰ को शिकायत करो फिर भी समाधान न हो तो 156(3) के तहत थाने में शिकायत दर्ज की जाने की प्रार्थना न्यायालय से करो । न्यायालय थाने को आदेश करेगा ।

      हटाएं
  20. sir agar bike chori ho jati hai toh police ko FIR karna hota hai ya NCR

    जवाब देंहटाएं
  21. एनसीआर से केरक्टर सर्टिफिकेट पर कुछ एफेक्ट पड़ता है क्या धारा 332, 353

    जवाब देंहटाएं
  22. sir mere chachere bhai dwara shajish ke tahat police mein shikayat darj krvai thi lekin hamne thane mein kah diya ki parivarik kahasuni hai koi jhagda nahi hoga aur ganvvalo ne rajinama kara diya tha 2019 january month mein fir may 2019 mein ek notice ayaya crpc 107/116 ke taht to hamne jakr bond bhar diya tha 6 mah ke lie . kya is proceeding ka police varification mein koi asar pad sakta hai govt gob lagne wali hai islie .

    जवाब देंहटाएं
  23. Sir
    Mujper muje pr dhara 151,323 ,504 lagi hui h case court me chl raha h esse government job ke police verification me problm aa skti h kiya sir plz reply 🙏

    जवाब देंहटाएं
  24. सर न्ंस्कार
    मैं डेनिक समाचार पत्र घातक रिपोर्टर भोपाल से प्रकाशित करता हूँ और पुलिस और प्रशाशन के वीरुध हमेशा ही आलोचनात्मक लेखों का प्रकाशन करता रहा हूँ अभी पिछले दिनों कुछ कथित दलाल पत्रकार जो सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय भारत सरकार नयी दिल्ली मैं बिना कोई किसी प्रकार का पंजीकरण कराये एक संस्था के रूप मैं सम्पूर्ण मप्र मैं केवल यूट्यूब से चेनल से समाचारों का नाम मात्र का प्रकाशन कर पुलिस सेटिंग कर दलाली कर रहे हैं के विरुद्ध समाचारों का प्रकाशन किया था जिसके कारण पुलिस से सेटिंग कर वो भी उसी थाने मैं जिनके विरुद्ध थाना प्रभारी व यूट्यूबर व के रात मैं शराब पारियों की बात समाचार मई काही गयी थी उसी यूट्यूबर ने धारा 155 मैं एन सी आर करवा दी है वो भी उस समय जब मैं मप्र के बाहर परिवार सहित 5 दिनों के लिए दिल्ली मैं था जिस वक़्त दिल्ली मैं था उस वक़्त समाचारों के प्रकाशन को रोकने के लिए धमकी मुझे मोबाइल पर दी गयी थी जो की कॉल रेकॉर्ड मेरे पास उपलब्ध है अब मैं इस लड़ाई को कानूनी रूप से मजबूती से लड़ना चाहता हूँ वहीं मामले की सही जांच होकर जो भी अपराधी हो मैं या वो सजा पाये इसके लिए क्या करना होगा। क्रप्या बताएं

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. आप उस धमकी के ख़िलाफ़ थाने में एक एफ़॰आई॰आर॰ दर्ज करा दो ।

      हटाएं

lawyer guruji ब्लॉग में आने के लिए और यहाँ पर दिए गए लेख को पढ़ने के लिए आपको बहुत बहुत धन्यवाद, यदि आपके मन किसी भी प्रकार उचित सवाल है जिसका आप जवाब जानना चाह रहे है, तो यह आप कमेंट बॉक्स में लिख कर पूछ सकते है।

नोट:- लिंक, यूआरएल और आदि साझा करने के लिए ही टिप्पणी न करें।

Blogger द्वारा संचालित.