lawyerguruji

बीमा कंपनी की शिकायत कहां और कैसे करे ? Where and How to make a complaint of Insurance Company

www.lawyerguruji.com


नमस्कार दोस्तों,
आज के इस पोस्ट में आप सभी को बताने जा रहा हु की बीमा कंपनी (Insurance Company) की शिकायत कैसे करे।  आप सभी अपना और अपनी संपत्ति का बीमा करवाते है, ताकि भविष्य में होने वाली क्षति को कम किया जा सके। बहुत सी बीमा कंपनी खुल गयी है हर बिमा कंपनी बीमा पॉलिसी बेचता है, इन बिमा कंपनी के पास विभिन्न प्रकार की पॉलिसी आपको मिलेंगी उनमे कुछ में आपको यहाँ बताने जा रहा हु जैसे कि:-

  1. जीवन बीमा ।
  2. दुर्घटना बीमा  योजना।  
  3. गृह बीमा  योजना। 
  4. यात्रा बीमा  योजना। 
  5. फसल बीमा । 
  6. वाहन बीमा  योजना। 
  7. चिकत्सा और स्वास्थ बिमा योजना। 
  8. पालतू पशु बीमा । 
  9. और अन्य बीमा ।  
अब जब आप  बीमा कंपनी से (Insurance Policy )बीमा  पॉलिसी खरीदते है, तो पहले आप बीमा पॉलिसी के बारे में पूरी तरह से जानकारी ले की कौन सी पॉलिसी में क्या हित है और प्रीमियम कितना है और पॉलिसी की अवधी क्या है।  इन सब जानकारी के बाद अपने हिसाब से बीमा पॉलिसी लेते है। 

यदि आप अपनी बीमा कंपनी से संतुष्ट नहीं है या बीमा कंपनी के एजेंट संतुष्ट नहीं है या  बीमा से सम्बंधित किसी अन्य बात से आप संतुष्ट नहीं है, तो इसकी शिकायत Insurance Regulatory And Development Authority Of  India. की वेबसाइट पर जा कर टोलफ्री नंबर या ईमेल या पत्र के माध्यम से कर सकते है।  

बीमा कंपनी की शिकायत कहां और कैसे करे ? Where and How to make a complaint of Insurance Company.

शिकायत कैसे करे ?
  1.  अपने बीमा कंपनी की शाखा या आपके संपर्क वाले किसी अन्य कार्यालय में  ग्रीविएंस रिड्रेसल ऑफिसर जो की शिकायत निवारण अधिकारी होता है  उससे संपर्क करे।
  2. आपको सभी सहायक अनिवार्य दस्तवेजों सहित अपनी शिकायत लिखित रूप में प्रस्तुत करनी होगी। 
  3. अपनी शिकायत की पावती लिखित दिनांक सहित प्राप्त कर ले।  
बीमा कंपनी, आपके द्वारा की गयी शिकायत का निवारण या उस पर कार्यवाही 15 दिनों के भीतर करेगी। 

यदि 15 दिनों के भीतर कोई कार्यवाही नहीं होती तो क्या करे ?
यदि आपके द्वारा लिखित रूप में की गयी शिकायत पर कोई कार्यवाही 15 दिनों के भीतर नहीं की जाती है या उनके द्वारा किये गए समाधान से संतुष्ट नहीं , तो आप ऐसा कर सकते है :-
  1. I.R.D.I ( Insurance Regulatory And Development Authority Of India) के उपभोक्ता मामलों के विभाग के शिकायत निवारण अधिकारी से संपर्क करे।  टोलफ्री नंबर 155255 या 1800 4254 732.. 
  2.  Complaints@irda.gov.in पर अपनी शिकायत को लिखित रूप में भेजे। 
  3. IRDA को अपनी शिकायत fax से भेजे।  

शिकायत पंजीकरण फॉर्म डाउनलोड करे और पते पर डाक द्वारा भेजे। 
  1. शिकायत पंजीकरण फॉर्म डाउनलोड करे। Complaint form 
  2.  शिकायत पंजीकरण फॉर्म डाउनलोड करने के बाद उसको भरे।  
  3. फॉर्म के साथ अनिवार्य दस्तावेजों को लगाए। 
  4. डाक या स्पीड पोस्ट या कोरियर के माध्यम से कार्यालय के पते पर भेजे।  
कार्यालय का पता :-

महा प्रबंधक,
भारतीय बीमा  विनियामक और विकास प्राधिकरण ( आईआरडीएआई ),
उपभोक्ता मामले विभाग - शिकायत निवारण कक्ष,
सर्वे नं - 115/1, फाइनेंसियल डिस्ट्रिक्ट, नानकरामगुडा,
गच्चीबावली, हैदराबाद - 500032 
बीमा कंपनी की शिकायत कहां और कैसे करे ? Where and How to make a complaint of Insurance Company बीमा कंपनी की शिकायत कहां और कैसे करे ? Where and How to make a complaint of Insurance Company Reviewed by Advocate Pushpesh Bajpayee on August 01, 2018 Rating: 5

4 comments:

  1. स्वागत है अभिनंदन है आपका सर हमारी समस्या का समाधान कीजिए सर मेरा एक्सीडेंट होने दौरान मेरा पैर टूट चुका है इलाहाबाद बैंक हाथीतारा निवास मंडला मे मेरा सुरक्षा बीमा योजना है सर मुझे अभी तक कोई सहायता राशि नहीं मिली है 11मंथ हो गया कृपया कर 9644746463 मे कमेंट कर हमारी समस्या का निवारण कर बताये

    ReplyDelete
    Replies
    1. क्या ऐक्सिडेंट के बाद एफ़॰आई॰आर॰ दर्ज कराई ?
      अपनी बीमा कम्पनी को आपने इस ऐक्सिडेंट की जानकारी दी ?
      यदि जानकारी दी तो क्या क्लेम फ़ॉर्म भरा ?

      Delete
  2. र मेरा स्टार यूनियन डाई इची जीवन बीमा निगम का पॉलिसी है मैं सन 2015 में एक पॉलिसी एजेंट एवं यूनियन बैंक के शाखा प्रबंधक के कहने पर यूनियन बैंक में पॉलिसी खुलवाया था इससे पहले मुझे पॉलिसी से संबंधित कोई भी जानकारी नहीं थी। पॉलिसी एजेंट एवं यूनियन बैंक के शाखा प्रबंधक के द्वारा कहा गया कि आप जिस प्रकार खाते में पैसा जमा करते हैं उसी प्रकार हमारे बैंक की पॉलिसी में पैसा जमा करें। आप जब कभी भी पॉलिसी तुड़वाना चाहेंगे तब आपको पूरा ब्याज सहित पैसा वापिस मिल जायेगा। जिससे मैं अपने बैंक खाते में जमा राषि को पॉलिसी के लिए हस्ताक्षर कर दिया। परंतु बाद में जब मुझे पैसों की जरूरत पड़ी तब मैं पॉलिसी तुड़वाने की बात एजेंट से कही तो उन्होने कहा कि आपको कम से कम तीन पॉलिसी आपको जमा करना होगा तभी आपका पूरा पैसा वापिस होगा नही ंतो 70 प्रतिषत राषि कटौती कर ली जायेगी और केवल जमा राषि की 30 प्रतिषत राषि ही दी जायेगी। साथ ही मैने पॉलिसी बांड के लिए भी चर्चा की जो आज दिनांक तक मुझे अप्राप्त है तो उनके द्वारा कहा गया कि मैं जब भी जबलपुर जाउंगा आपका पॉलिसी बांड ले आउंगा लेकिन आज दिनांक तक नहीं दिया गया। जब मैने तीसरी पॉलिसी राषि जमा की तो उसके बाद एजेंट द्वारा कहा गया कि आपको अब एक किष्त और जमा करना पड़ेगा तो पांचवे साल में पूरी राषि वापिस हो जायेगी नही ंतो 30 प्रतिषत हीे मिलेगा। उनके कहने पर मैने कर्जा लेकर चौथी किष्त भी जमा की लेकिन मुझे मेरा पैसा आज तक वापिस नहीं हो रहा है। आज की स्थिति में एजेंट से बात करने पर कहा जाता है कि मैं अब नोकरी छोड़ दिया हूं आप कम्पनी से बात करें। मैने कम्पनी को सारी बातें अवगत करायी परंतु कंपनी द्वारा भी कहा जा रहा है कि अब आपको केवल 50 प्रतिषत राषि ही दी जावेगी। क्योंकि आपने पॉलिसी बांड मिलने के 15 दिवस के भीतर रिफण्ड का आवेदन नहीं किया गया। मुझे आज दिनांक तक पॉलिसी बांड नहीं मिला है मैं 15 दिन के भीतर कैसे रिफण्ड का आवेदन कर सकता था। एजेंट शाखा प्रबंधक, और कंपनी द्वारा जो मेरे साथ ठगी की गई है उसका मुझे उपाय बताएं और मेरी जमा राषि मुझे वापिस दिलाएं सर मैं आपका सदैव आभारी रहूंगा।
    मेरा मो.न. 9755941291 है।

    ReplyDelete
  3. आपको पॉलिसी के दस्तावेज अभी तक नहीं मिलें जैसा कि आप बता रहे क्या इसके बारे में कम्पनी से या बैंक से कोई बात हुई ?

    अभी तक आपने जो भी किश्तें भरी क्या उनकी कोई रसीद आपके पास है ?

    ReplyDelete

lawyer guruji ब्लॉग में आने के लिए और यहाँ पर दिए गए लेख को पढ़ने के लिए आपको बहुत बहुत धन्यवाद, यदि आपके मन किसी भी प्रकार उचित सवाल है जिसका आप जवाब जानना चाह रहे है, तो यह आप कमेंट बॉक्स में लिख कर पूछ सकते है।

नोट:- लिंक, यूआरएल और आदि साझा करने के लिए ही टिप्पणी न करें।

Powered by Blogger.