Subscribe YouTube channel lawyerguruji



lawyerguruji

साइबर अपराधी कौन हो सकते है ? Who is Cyber Criminal?

 
www.lawyerguruji.com

नमस्कार मित्रों,
आज के इस लेख में आप सा भी को बताने जा रहा हु कि "साइबर अपराधी कौन हो सकते है ?" आज कल देश में  साइबर अपराध की बढ़ती घटना को देख कर आप सभी के मन में यह सवाल तो जरूर उठ रहा होगा की आखिर ये साइबर अपराध करने वाले होते है कौन व् आखिर ये साइबर अपराध करते क्यों है। 

क्योकि देश में बढ़ते इस साइबर अपराध की घटना का शिकार हर एक दूर व्यक्ति हो रहा है, ऐसा इसलिए क्योकि कोई भी इस आधुनिक तकनिकी युग में जागरूक नहीं है। जहाँ इस आधुनिक तकनिकी युग की अच्छाई यह है कि इसने व्यक्ति के जीवन को सरल बना दिया है वही इसकी एक बुराई भी है कि इसी आधुनिक तकनीक का गलत व् दुरूपयोग भी हो रहा है।  

Cyber apradhi kaun hote hai ? ( Who is Cyber Criminal?)


साइबर अपराधी कौनहो सकते है ? Who is cyber criminal ?)

वे व्यक्ति जिन्हे कंप्यूटर,इंटरनेट व् आधुनिक तकनीक से सम्बंधित हर एक चीज की बहुत अच्छे से समझ,ज्ञान और जानकारी होती है व् इसमें बहुत ही अनुभवी व् माहिर होते है। अगर यही अनुभवी व् माहिर लोग अपने इस कंप्यूटर व् इंटरनेट के ज्ञान का इस्तेमला गलत कार्य करने के लिए करने लगे जिससे समाज में रह रहे लोगो को प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से आर्थिक, मानसिक व् अपूरणीय क्षति होती है, तो ऐसा करने वाले हर एक व्यक्ति को साइबर अपराधी कहा जायेगा। 

विश्व का कोई ऐसा देश, राज्य, शहर, गावं, क़स्बा व् ऐसा कोई क्षेत्र नहीं है, जहाँ पर ये साइबर अपराध होता नहीं है और न ही साइबर अपराधी पाए जाते हो। ये साइबर अपराधी बहुत पढ़े लिखे व् अनुभवी होते है व् इंटरनेट और आधुनिक तकनीक में ये माहिर होते है। यहाँ पर पढ़े लिखे व् अनुभवी यह शब्द इसीलिए कहाँ गया है अगर ये पढ़े लिखे व् अनुभवी न होते तो इनको इस आधुनिक तकनिकी युग में इस्तेमाल होने वाली तकनीक उपकरणों जैसे कंप्यूटर, मोबाइल व् इंटरनेट का इतना ज्ञान न होता।  

कुछ साइबर अपराधी तो प्रोफेशनल हैकर होते है जो जान बूझकर साइबर अपराध करते है और कुछ अनजान में कंप्यूटर व् इंटरनेट में कुछ न कुछ करते करते अनजाने में अपराध कर बैठते है।  कभी कभी लोग साइबर अपराध जान बूझकर कर बदलना लेने की भावना में भी करते है जैस कि :-
  1.  कंपनी, फैक्ट्री, कारखानों, संस्था, फर्म में काम करने वाले असंतुष्ट कर्मचारी,
  2. मित्र,
  3. एक्स लवर,
  4. तलाकशुदा,
  5. अनजान व्यक्ति,
  6. अधिक धन कमाने की लालसा रखने वाले लालची व्यक्ति आदि। 
साइबर अपराधी की कोई उम्र होती है, ये किसी भी उम्र के हो सकते है, जरुरी नहीं कि साइबर अपराधी केवल हैकर ही होते है। 
इसको और विस्तार से समझे।  

साइबर अपराधी कितने प्रकार के होते है ? Kinds of Cyber Criminal's 

1. किशोर - किशोर ? यानी बच्चे क्या साइबर अपराध कर सकते है ? यह  कुछ अजीब सा लग रहा होगा रहा होगा। इस आधुनिक तकनीकी युग के विकास दौर में आज कल किशोर यानी बच्चे कंप्यूटर, इंटरनेट, मोबाइल, और साइबर कैफ़े की तरफ बहुत तेजी से आकर्षित होते नजर आ रहे है।  ये किशोर कंप्यूटर और इंटरनेट के बारे में जानने के लिए उत्सुक रहते है और और ये इस लिए भी इतने उत्सुक होते है कि अपने मित्र मण्डली में अपने को इतना होसियार व् काबिल साबित कर में लगे रहते की इनकी काफी तारीफ हो, लेकिन इसी तारीफ व् बड़ाई के चक्कर में जाने -अनजाने में साइबर अपराध कर बैठते है। 

जैसे कि :-
  1. किसी अनजान व्यक्ति को धमकी भरे संदेश भेजना। 
  2. किसी व्यक्ति के संवेदनशील चित्र को सार्वजानिक रूप से इंटरनेट में प्रकाशित कर देना,
  3. अन्य ऐसे कार्य जिसे ये किशोर मस्ती के चलते करते तो है पर इनको भी नहीं मालूम होता की इसका परिणाम क्या होगा। 
  4. कभी कभी ये किशोर मनोवैज्ञानिक कारणों से भी साइबर अपराध कर बैठते है। 
2. हैकर - हैकर जैसा की इनके नाम से ही मालूम होता है कि  इनका मुख्य उद्देश्य किसी भी चीज को हैक करना होता है यानी उस चीज पर अपना कब्ज़ा कर उसको अपने मन मुताबिक इस्तेमाल करना। जब यही हैकर कम्प्यूटर और इंटरनेट की मदद से किसी भी व्यक्ति, कंपनी, फर्म, फैक्ट्री, कारखाने में रखे कंप्यूटर व् अन्य इलेक्ट्रॉनिक साधनो को हैक करते है तो इनका मुख्य उद्देश्य आर्थिक, मानसिक व् अन्य किसी भी तरह से अपूरणीय क्षति पहुँचाने का होता है, क्योकि ये ऐसा इसलिए करते है क्योकि इनको ऐसा करने में स्वयं का लाभ छुपा होता है या कोई इनसे अपने काम के लिए करवाता है।   

ये साइबर अपराधी कभी कभी अपने राजनितिक उद्देश्यों की पूर्ति के लिए अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रतिस्पर्धी देशों में से किसी भी एक देश से मिलकर किसी अन्य दूसरे देश में साइबर अपराध करते है ताकि उस देश को आर्थिक क्षति होती रहे।  
 

3. पशेवर हैकर -पेशेवर हैकर जैसा कि इसके नाम से ही मालूम चल रहा ही कि इनका पेशा ही हैकिंग है। ये पेशेवर हैकर किसी भी व्यक्ति, कम्पनी, फर्म, फैक्ट्री या कारखाने में रखे कंप्यूटर व् अन्य इलेक्ट्रॉनिक साधनो को हैक कर सामने वाले को आर्थिक, मानसिक व् अन्य अपूरणीय क्षति पहुँचाते है।  इनका मुख्य उद्देश्य केवल रुपया कामना होता है। 


4. असंतुष्ट कर्मचारी - असंतुष्ट कर्मचारी यानी वे कर्मचारी जो अपने नियोक्ता से किसी भी कारण से असतुष्ट होते है ये कारण कई हो सकते है जिनका पता केवल परिस्थियों में ही चलता है। ये असंतुष्ट कर्मचारी अपने नियोक्ता से किसी बात को लेकर खुश नहीं रहते है और बदले की भावना या दुर्भावना के चलते साइबर अपराध कर बैठते है।  
कुछ कर्मचारी तो अपने मित्र कर्मचारी से भी असंतुष्ट रहते है और उनको भी क्षति पहुँचाने के उद्देश्य से उनके साथ छेड़खानी कर बैठते है, जैसे कि :-
  1. महिला कर्मचारी के कंप्यूटर पर अनधिकृत प्रवेश कर उसमे स्टोर डाटा के साथ छेड़खाड़ करना। 
  2. कर्मचारी महिला हो या पुरुष उसके कंप्यूटर पर अनधिकृत प्रवेश कर किसी अन्य महिला या पुरुष कर्मचारी को अश्लील चित्र, सन्देश व् आपत्तिजनक सामग्री भेजना। 
  3. अपने नियोक्ता को ही किसी अन्य कर्मचारी के कंप्यूटर व् मोबाइल से अश्लील चित्र व् सन्देश भेजना।  
  4. नियोक्ता व् अन्य कर्मचारी के चित्रों को अन्य अश्लील वेबसाइट पर अपलोड करना व् अन्य ऐसे कार्य जिससे क्षति हो। 
  5. अन्य आर्थिक, मानसिक व् अन्य अपूरणीय क्षति पहुँचाना। 

5.अन्यदेशीय जासूस -अन्यदेशीय जासूस जिनका काम ही जासूसी करना होता है, इनके अपने उद्देश्य हो सकते है या इनसे जासूसी करवाने वालो के अपने उद्देश्य हो सकते है। ये जासूसी करने वाले हैकर भी हो सकते है, क्योकि आज कल इस आधुनिक युग में हर एक काम कंप्यूटर व् इंटरनेट के माध्यम से ऑनलाइन ही हो रहा है। इन  तकनीकी जासूस को कंप्यूटर व् इंटरनेट का अधिक ज्ञान होता है जिसके चलते ये जासूस किसी भी देश की गोपनीय जानकारी को हासिल करने के लिए उस देश के कंप्यूटर व् अन्य इलेक्ट्रॉनिक साधनो को अपना लक्ष्य बनाते है।  इन जासूसों का मुख्य उद्देश्य देश की आर्थिक स्थिति, अखंडता व् सुरक्षा को क्षति पहुँचाना होता है। 


7. पूर्व प्रेमी  - अधिकतर साइबर अपराधी की श्रेणी में पूर्व प्रेमी भी आते है या वे लोग जो प्यार में धोखा खाये होते है। इन पूर्व प्रेमियों का मुख्य उद्देश्य बदला लेना ही होता है, जिसके लिए वे किसी भी हद तक गुजर जाते है। ये प्रेमी लड़के व् लड़की दोनों या दोनों में से कोई भी एक हो सकते है। बदले की भावना के चलते ये कुछ भी कर सकते है जैसे कि :-
  1. अपंनी पहचान छिपा कर अश्लील चित्र, सन्देश व् अन्य आपत्तिजनक सामग्री इंटरनेट के माध्यम से ऑनलाइन भेजना।
  2. लड़के या लड़की की अश्लील चित्र को अन्य अश्लील वेबसाइट पर डालना व् प्रकाशित करना,
  3. अन्य ऐसे आपराधिक कार्य करना जिसकी वजह से आर्थिक, मानसिक व् अपूरणीय क्षति हो आदि। 

8. तलाक़शुदा व्यक्ति - तलाकशुदा व्यक्ति भी साइबर अपराध कर बैठते है , क्योकि ये तलाक़शुदा व्यक्ति अपने पूर्व पति व् पत्नी से बदला लेने की भावना से उनके पति व् पत्नी को परेशान करने के इरादे से कुछ न कुछ गलत काम किया करते है। ताकि उनके जीवन में कोई न कोई परेशानी बानी रहे।  
  1. अनजान व्यक्ति के रूप में अश्लील चित्र व् आपत्तिजनक सामग्री भेजना आदि,
  2. अन्य कार्य जिससे आर्थिक, मानसिक व् अपूरणीय क्षति हो आदि। 

कोई टिप्पणी नहीं:

lawyer guruji ब्लॉग में आने के लिए और यहाँ पर दिए गए लेख को पढ़ने के लिए आपको बहुत बहुत धन्यवाद, यदि आपके मन किसी भी प्रकार उचित सवाल है जिसका आप जवाब जानना चाह रहे है, तो यह आप कमेंट बॉक्स में लिख कर पूछ सकते है।

नोट:- लिंक, यूआरएल और आदि साझा करने के लिए ही टिप्पणी न करें।

Blogger द्वारा संचालित.