lawyerguruji

विवाह पंजीकरण करवाना हुआ अनिवार्य

www.lawyerguruji.com

नमस्कार मित्रों,
आज के इस लेख में आप सभी को " विवाह पंजीकरण कराना हुआ अनिवार्य" इसके बारे में बताने वाला हु।  अब समाज के सभी धर्मो को अपने विवाह का पंजीकरण करवाना होगा। 

तो चलिए इसको विस्तार से समझे।  

VIVAH KA REGISTRATION KARANA HUA ANIVARYA .

विवाह पंजीकरण करवाना हुआ अनिवार्य। 
हाल ही में कैबिनेट की हुई बैठक में प्रदेश सरकार ने ऑनलाइन विवाह पंजीकरण के लिए मंजूरी दे दी है, जिसमे यह कहा गया कि अब समाज के सभी वर्गो को विवाह का पंजीकरण करवाना अनिवर्य है।  इस बैठक में यह भी कहा गया की मुस्लिम दंपत्ति को भी अब निकाह का पंजीकरण करवाना होगा जिसकी जिम्मेदारी उत्तर प्रदेश महिअ बल विकास को दी गयी है।  विवाह का पंजीकरण करवाना अब सभी धर्मो के लिए अनिवार्य हो,  लिए लॉ कमीशन ने विवाह पंजीकरण को आधार कार्ड से जोड़ने की सिफारिस की है, 

विवाह पंजीकरण का शुल्क कितना होगा।  
विवहित दंपत्ति अपने विवाह का पंजीकरण एक साल के भीतर करवाते है तो 10 रु आवेदन शुल्क लगेगा, यदि विवाह पंजीकरण विवाह के एक साल के बाद कराया जाता है 50 रु आवेदन शुल्क देना होगा। 

विवाह पंजीकरण कहाँ और कैसे होगा ?
स्टाम्प और रजिस्ट्रेशन उत्तर प्रदेश विभाग की अपनी आधिकारिक वेबसाइट igrsuvp.gov.in  के जरिये ऑनलाइन विवाह पंजीकरण के लिए आवेदन किया जायेगा। इस वेबसाइट के जरिये ऑनलाइन नए विवाहित जोड़े अपने विवाह के पंजीकरण के लिए आवेदन कर सकेंगे। 
  1. ऑनलाइन आवेदन आवेदन पत्र के भरने के बाद उसकी हार्ड कॉपी कार्यालय लेके जनि होगी जिस दिन अपने वहां का समय माँगा होगा। 
  2. आवेदन पत्र की जाँच के बाद सारी औपचारिकताएं पूर्ण होने के बाद रजिस्ट्री अधिकारी द्वारा विवाह प्रमाण पत्र जारी कर दिया जायेगा।  
  3. रजिस्ट्री कार्यालय द्वारा दिए समय पर आपको जाकर विवाह प्रमाण पत्र प्राप्त करना होगा।  
विवाह पंजीकरण के लिए इन शर्तो का पूर्ण किया जाना अनिवार्य है ?
  1. पति या पत्नी  कार्ड होना अनिवार्य है और वह मोबाइल नंबर से जुड़ा हो। 
  2. पति या पत्नी दोनों या दोनों में से किसी एक का भारतीय नागरिक होना अनिवार्य है। 
  3. सम्बंधित विवाह उत्तर प्रदेश के किसी राज्य, गावं, कब्जे या इसके क्षेत्र में कही भी संपन्न हुआ हो। 
विवाह पंजीकरण के लाभ क्या है ?
  1. विवाहित जोड़े को पासपोर्ट आवेदन करते समय विवाह पंजीकरण प्रमाण पत्र की आवश्यकता होती है। 
  2. विवहित जोड़े को संयुक्त बैंक अकाउंट खुलवाने के समय विवाह पंजीकरण प्रमाण पत्र की आवश्यकता होती है। 
  3. जीवन बीमा के नॉमिनी के लिए विवाह प्रमाण पत्र की आवेदन की आवश्यकता होती है।
  4. अन्य पति-पत्नी से सम्बंधित कार्यो के लिए विवाह पंजीकरण प्रमाण पत्र की आवश्यकता होती है। 

कोई टिप्पणी नहीं:

lawyer guruji ब्लॉग में आने के लिए और यहाँ पर दिए गए लेख को पढ़ने के लिए आपको बहुत बहुत धन्यवाद, यदि आपके मन किसी भी प्रकार उचित सवाल है जिसका आप जवाब जानना चाह रहे है, तो यह आप कमेंट बॉक्स में लिख कर पूछ सकते है।

नोट:- लिंक, यूआरएल और आदि साझा करने के लिए ही टिप्पणी न करें।

Blogger द्वारा संचालित.