lawyerguruji

जज एडवोकेट जनरल पद की भर्ती के लिए एसएसबी पाठ्यक्रम SSB syllabus for - JAG - judge advocate general entry scheme

www.lawyerguruji.com

नमस्कार मित्रों,
आज के इस  लेख में आप सभी को भारतीय सेना में जज एडवोकेट जनरल भर्ती एसएसबी इंटरव्यू के समय होने वाली परीक्षा के सिलेबस यानी पाठ्यक्रम के बारे में बताने वाला हु।

भारतीय सेना में, एलएलबी पास छात्रों के लिए JAG यानी जज एडवोकेट जनरल के पद पर भर्ती निकला करती है। इस भर्ती के लिए महिला व् पुरष दोनों ही आवेदन करत सकते है। जज एडवोकेट जनरल की भर्ती के लिए आवेदन के लिए भारतीय सेना द्वारा पात्रता निर्धारित की गयी है, जो कि :-
  1. उम्मीदावर भारतीय नागरिक होना चाहिए। 
  2. उम्मीदवार (महिला / पुरुष ) अविवाहित हो। 
  3. उम्मीदवार (महिला / पुरुष ) की आयु 21 वर्ष से 27 वर्ष के मध्य  हो। 
  4. उम्मीदवार न्यूनतम 55 प्रतिशत अंको के साथ एलएलबी पास हो। 
  5. उम्मीदवार बार कौंसिल ऑफ़ इंडिया / स्टेट बार कौसिल के साथ पंजीकरण के लिए योग्य हो चाहिए। 
  6. उम्मीदवार बार कौंसिल ऑफ़ इंडिया से मान्यता प्राप्त कॉलेज व् विश्वविद्यालय से विधि स्नातक होना चाहिए। 
जज एडवोकेट जनरल के पद की भर्ती के लिए कोई प्रवेश परीक्षा नहीं आयोजित नहीं होती है, एलएलबी डिग्री में प्राप्त न्यूनतम 55 प्रतिशत अंको के आधार पर मेरिट के अनुसार उम्मीवारों को एसएसबी इंटरव्यू के लिए सीधे शॉर्टलिस्टेड किया जाता जाता है। 

जज एडवोकेट जनरल पद की भर्ती के लिए एसएसबी पाठ्यक्रम SSB syllabus for - JAG - judge advocate general entry scheme

जज एडवोकेट जनरल पद की भर्ती के लिए एसएसबी पाठ्यक्रम। 

जज एडवोकेट जनरल के पद की भर्ती के लिए आवेदन करने वाले उम्मीदवारों को यह जानना अति आवश्यक है कि एसएसबी इंटरव्यू के समय होने वाली परीक्षा में क्या-क्या सवाल पूछे जाते है।  

एसएसबी सिलेबस, जो की निम्न प्रकार से है :-
  1. नॉन वर्बल। 
  2. वर्बल। 
  3. पिक्चर प्रेसेप्शन एंड डिस्कशन टेस्ट। 
  4. थीमेटिक ऍपेरेप्शन टेस्ट। 
  5. वर्ड एसोसिएशन टेस्ट। 
  6. सिचुएशन रिएक्शन टेस्ट। 
  7. सेल्फ डिस्क्रिप्शन टेस्ट। 
  8. ग्रुप डिस्कशन। 
  9. ग्रुप प्लानिंग एक्सरसाइज। 
  10. प्रोग्रेसिव ग्रुप टास्क। 
  11. ग्रुप ऑब्स्टेकल रेस। 
  12. हाफ ग्रुप टास्क। 
  13. लेक्चररेट। 
  14. इंडिविजुअल ऑब्स्टैल।
  15. कमांड टास्क। 
  16. फाइनल ग्रुप टास्क। 
तो चलिए, ु उपरोक्त  ऊपर बातये गए सभी सिलेबस के बारे में विस्तार से जाने।

1. नॉन वर्बल। 

1. अनलॉगी :-  अनलॉगी प्रश्न में आपको दो आकृति की जोड़ी दी जाती है, जिसमे आपको उसी रिश्ते के साथ एक और जोड़ी चुनने को कहा जाता है। 

2. सीरीज :- सीरीज प्रश्न में आपको दो आकृति की दी जाती है, जिसमे एक आकृति में आपको प्रॉब्लम दिखाई देगी और दूसरे में आपको उसी का हल। इस तरह के प्रश्न में जो पहले भाग में प्रॉब्लम दी होती, जिसमे आकृति चला करती है, कह सकते है कि रोटेट हुआ करती है, उसी के अनुसार आखिरी रोटेशन में वह आकृति  कैसी दिखाई देगी आपको हल वाले आकृति में उस आकृति को चुनना है। 

3. क्लासिफिकेशन :- क्लासिफिकेशन प्रश्न में आपको एक आकृति का सेट दिया होगा, जिसमे चार आकृति बानी होंगी, इन चार में उस अलग आकृति को चुनना है, तो दी गयी सभी चार आकृतियों से अलग है। 

4. कम्पलीट ऑफ़ इन्कम्प्लीट पैटर्न:- कम्पलीट ऑफ़ इन्कम्प्लीट ऑफ़ पैटर्न प्रश्न में दो आकृति की जोड़ी होती है, पहली प्रॉब्लम और दूसरी में उसी का हल।  पहली प्रॉब्लम की आकृति में एक आकृति दी हुई होती है ,जो की अधूरी होती है,  इस अधूरी आकृति को पूर्ण करने के लिए आपको हल वाली आकृति से सही आकृति चुनना होगा, ताकि प्रॉब्लम का हल हो सके। 

5. स्पॉटिंग आउट  एम्बेडेड फिगर :- स्पॉटिंग आउट एम्बेडेड फिगर प्रश्न में दो आकृति की जोड़ी होती है, जिसमे पहली प्रॉब्लम  और दूसरी हल की होती है।  प्रॉब्लम वाली आकृति को आपको हल वाली आकृति में ढूढ़ना होता है। 

6. मिरर एंड वाटर इमेज :- मिरर एंड वाटर इमेज वाले प्रश्न मे एक शब्द दिया होता है, उसी शब्द को यदि शीशे या पानी में देखा जाये ,तो कैसा दिखेगा, उसके लिए आपको चार विकल्प दिए जाते है। इन चार विकल्प में सही शब्द चुनना होता है।  

7. क्यूब एंड डाइस :- क्यूब प्रश्न में प्रश्न कुछ इस प्रकार से होता है, एक क्यूब जिसके दो अगल साइड रंगे हुए है, और 64 भागो में सामान काट दिया जाता है। कितने छोटे क्यूब बिलकुल रंगे नहीं होते है। विकल्प चार दिए होने सही आपको चुनना है। 

डाइस प्रश्न में  डाइस यानी पाशा जिसे कहते है, उसको तीन बार फेका जाये, उस तीन बार फेके जाने में जो अलग अलग पोजीशन आएगी, वह आकृति के रूप में दिखाई देगा। यदि ऊपर वाले साइड में 6 रहा है ,तो निचे वाली साइड में कौन सी संख्या होगी। 

2. वर्बल 


1. स्पेलिंग टेस्ट :-  स्पेलिंग टेस्ट में चार विकल्प दिए होंगे उनमे से गलत स्पेलिंग को चुनना है। 

2. सेंटेंस कम्पलीट :-  सेंटेंस कम्पलीट प्रश्न में एक अधूरा सेंटेंस दिया होगा, जिसको दिए गए चार विकल्प शब्दों में से एक सही शब्द चुन कर सेंटेंस पूरा करना होता है। 

3. सिनोनीम एंड अन्टोनीम :- सीनोनीम एंड अन्टोनीम टेस्ट शब्ध्कोश पर आधारित होते है। सीनोनीम वाले प्रश्न में  एक शब्द दिया होगा, उसी शब्द से मिलते जुलत चार विकल्प दिए होंगे, इन चार विकल्प में सही शब्द चुनना है। 

अन्टोनीम वाले प्रश्न में एक शब्द दिया होता है, उसी शब्द का विलोम चार विकल्पों में दिया होता है, सही विकल्प चुनना होता है। 

4. अनलॉगी :-   अनालॉजी प्रश्न में  दो या अधिक समूह में समानता दर्शानी होती है, यह प्रश्न कई प्रकार से पूछा  जा सकता हैम जसी कि :- नंबर, लेटर्स , वर्ड ,ऑब्जेक्ट और थिंग्स। 

5 . वर्बल डिडक्शन्स :-वर्बल डिडक्शन प्रश्न में कोडिंग-डिकोडिंग प्रश्न आते है, इसमें एक शब्द दिया होगा, जैसे कि :कोड BASIC को DDULE जैसा लिखा गया है ,तो LEADER को किस कोड में लिखा जाएगा। चार विकल्प दिए रहेंगे सही आपको चुनना है।  

6. डायरेक्शन सेंस टेस्ट :- डायरेक्शन सेन्स टेस्ट को परिभाषित किया जाये तो, इसमें दिशा बतानी होती है।  जैसे :-
एक व्यक्ति 4km ईस्ट जाकर लेफ्ट को मुड़ता है, फिर 8 km चलता है और राइट को मुड़ता है और फिर 5 km चलता है और फिर राइट को मुड़ता है फिर 8 km चलता है।  
इस प्रश्न में सबसे कम दुरी व् अतरंग बिंदु से उसकी दिशा बतानी है। 

7. क्लासिफिकेशन :- क्लासिफिकेशन प्रश्न में दिए गए समूहों में से समांतर व् भिन्नता बतानी होती है। इसमें प्रश्न लेटर, नंबर , वर्ड व् आइटम पर आधारित होते है। 

8. सीरीज :-  सीरीज प्रश्न को परिभाषित किया जाये, तो यह सीक्वेंस, नंबर के पैटर्न , अल्फाबेट्स या इन दोनों के मिश्रण के साथ दिए होते है। इन सीरीज प्रश्न में कई प्रकार से होते है, जैसे कि :-
  1. दिए गए नंबर या शब्द  की सीरीज में अनुपस्थित नंबर या शब्ध्द को ढूढ़ना। 
  2. दिए गए नंबर सीरीज में गलत नंबर को ढूढ़ना। 
  3. दिए गए शब्द सीरीज में कुछ शब्द के अनुपस्थित होने पर सही वैकल्पिक शब्दों चुनना। 
9. सिटींग अरेंजमेंट :- सिटींग अरेंजमेंट प्रश्न को परिभाषित किया जाये, तो इसमें वस्तु या व्यक्ति पर आधारित दी गयी जानकारी के अनुसार सिटींग अरेंजमेंट बताना होता है, इसमें व्यक्ति व् वस्तु का अरेंजमेंट लीनियर, सर्कुलर, रेक्टेंगुलर, स्क्वायर आदि हो सकता है। 

प्रश्न :- एक घर में पांच लोग है, P,Q ,R, S, T. P जो कि Q के राइट में है और T जो कि R के लेफ्ट में है और P के राइट में है. Q जो कि S के राइट में है।  तो मध्य में कौन बैठा है।  दिए गए विकल्प में आपको चुनना है।

10. ब्लड रेलशन :- ब्लड रिलेशन प्रश्न को परिभाषित ककिया जाये, तो यह दो या अधिक व्यक्तियों के मध्य स्थापित रिश्ते को बताता है।  रिश्तों को दो भागों में विभाजित किया गया है, पहला माँ की तरफ वाले रिश्ते व् पिता की तरफ वाले रिश्ते। 

प्रश्न - A जो कि B का भाई है, C जो कि A की माँ है, D जो कि C का पिता है, E जो कि B का बेटा है, तो इसमें D  से A का क्या रिश्ता है। 

11. पजल :- पजल प्रश्न परिभषित किया जाये, तो यह एक प्रकार की जानकारी होती है, जिसमे एक सेंटेंस को jumbled फॉर्म में एक सीक्वेंस या आर्डर में  दिया होता है,  जिसको एक व्यवस्थित ढंग से  लिखना होता है, जो कि उस सेंटेंस को सही ढंग से पढ़ा जा सके। 

12. लॉजिकल वेन डाइग्राम :-  लॉजिकल वेन डाइग्राम को परिभाषित किया जाये, तो इसमें दिए गए वस्तु समूह को आकृति के रूप में  समझाना होता है। इस तरह के प्रश्न को हल करने के लिए सामान्य ज्ञान व् तार्किक समझ का ज्ञान होना अति आवश्यक है।

दिए गए वस्तु को उनके प्रकृति, वर्गीकरण, समांतर, विभिन्नता के आधार पर सर्किल, स्क्वायर, रेक्टेंगल व् ट्रायंगल की आकृति बना कर दर्शित करना होता है। 

13. रैंकिंग :- रैंकिंग टेस्ट प्रश्न को परिभाषित किया जाये , तो इसमें वास्तु व् व्यक्ति को, इन दोनों में दिए गए सम्बन्ध के अनुसार ऊपर से निचे या लेफ्ट से राइट व्यवस्थ्ति करना होता।

इसमें प्रश्न बढ़ते व् घटते कर्म के अनुसार विभिन्न प्रकार से पूछे जा सकते है, जैसे कि हाइट, वेट, ऐज, सैलरी, अन्य, जिसमे व्यक्ति / वस्तु की स्थिति बतानी होती  है। 

प्रश्न :-    एक कक्षा में रमेश का स्थान ऊपर से 9 वां और निचे से 38 वां है, तो  कक्षा में कुल कितने छात्र है ?
विकल्प चार दिए होंगे ,  सही आप चुने। 
1.  46                                  2.    46                               3.  47                     4.  48

3.  पिक्चर परसेप्शन एंड डिस्कशन टेस्ट (PP & DT)

पिक्चर परसेप्शन डिस्कशन टेस्ट परिभाषित किया जाये, तो इसमें एक हलकी धुंधली छाया चित्र दिखाई जाती है। चित्र में दिख रहे हर एक वस्तु व् व्यक्ति को शामिल कर एक छोटी से कहानी लिखनी होती। 
  1. एसएसबी इंटरव्यू के समय PP & DT टेस्ट के में सभी उम्मीदवारों को एक धुंधला चित्र 30 सेकंड के लिए दिखाया जायेगा। 
  2. चित्र में दिख रहे व्यक्ति का विवरण लिखना होगा, जिसके लिए 30 दिया जायेगा। व्यक्ति का विवरण, उसकी उम्र, लिंग व् मनोदशा को लिखना होगा। 
  3. उम्मीदवारों के सामने चल रही  स्क्रीन को बंद कर दिया जायेगा और  उस चित्र के अनुसार कहानी लिखने  1 मिनट जायेगा। 
  4. कहानी लिखने के बाद उम्मीदवारों के पहले से बने समूह के मध्य उनके द्वारा लिखी उसी कहानी के ऊपर डिस्कशन होगा। 

4. थीमेटिक ऍपेरेप्शन टेस्ट (TAT )

थीमेटिक ऍपेरेप्शन टेस्ट को परिभाषित किया जाये, तो इसमें एक साफ छायाचित्र 30 सेकंड के लिए दिखाया जायेगा, उस छायाचित्र में दिख रहे विवरण के अनुसार 4 मिनट के भीतर एक कहानी लिखनी होती है। कहानी ऐसी हो जिसका कोई अर्थ निकलता हो।

5. वर्ड एसोसिएशन टेस्ट (WAT)

वर्ड एसोसिएशन टेस्ट को परिभाषित किया जाये, तो इसमें शब्दों के अनुसार एक अर्थपूर्ण वाक्य (sentence) बनाना होता है। जिससे उम्मीदवारों के लिखने के विचार को जाना जाता है। 
  1.  उम्मीदवारों के सामने स्क्रीन में एक एक कर कुल 60 शब्द दिखाए जाते है। 
  2. एक शब्द के साथ अर्थपूर्ण वाक्य लिखने के लिए 15 सेकंड दिए जाते है। 

6. सिचुएशन रिएक्शन टेस्ट (SAT)

सिचुएशन रिएक्शन टेस्ट को परिभाषित किया जाये, तो इसमें एक सिचुएशन दी होती है, उसी के अनुसार यदि आपके सामने वही सिचुएशन हो, तो आप उसे कैसे हल करेंगे, इसी को लिखना होता है। जो आप लिखेंगे वह अर्थपूर्ण होनी चाहिए, काल्पनिक नहीं होनी चाहिए। 
  1. कुल 60 सिचुएशन होंगी, 30 मिनट के भीतर उन्ही के आधार पर उम्मीदवारों को उनके हल लिखने होगा।  

7. सेल्फ डिस्क्रिप्शन टेस्ट (SDT)

सेल्फ डिस्क्रिप्शन टेस्ट को परिभाषित करे, तो इसमें उम्मीदवारों को अपने बारे में बताना होता है, जैसे की:-
  1. आपके प्रति आपके माता पिता की क्या राय है वे आपके बारे में क्या सोचते है,
  2. आपके मित्र आपके बारे में क्या ख्याल रखते है क्या सोचते है ,
  3. आपके टीचर आपके बारे में क्या सोचते है,
  4. आप स्वयं अपने बारे में क्या सोचते है, 
  5. आप अपने जीवन में क्या बनना चाहते है। 

8. ग्रुप डिस्कशन (GD )

ग्रुप डिस्कशन को परिभाषित करे, तो इसमें एक विषय पर समूह के साथ चर्चा करनी होती है, हर एक उम्मीदवार को अपनी बात कहने का अवसर मिलता है। 
  1. GD  के लिए आपको वर्तमान विषयों का ज्ञान होना अति आवश्यक है। 
  2. करेंट अफेयर्स की जानकारी हो,
  3. इतिहास की जनकारी हो,
  4. सामाजिक जागरूकता की जानकारी का आवश्यक है। 

9.  ग्रुप प्लानिंग एक्सरसाइज (GPE)

ग्रुप प्लानिंग एक्सरसाइज को परिभाषित करे, तो इसमें एक समस्या दी होती है, जिसका हल उम्मीदवारों को ग्रुप के साथ प्लान करके के उस समस्या का समाधान करना होता है। 

उदाहरण :- एक गावं में एक ही समय में  दो दुर्घटनाएं हुई , पहली  रेल गाड़ी  पटरी से पलट गयी व् दूसरी  गावं की आबादी क्षेत्र में भयंकर आग लगी है।  गावं के नदी पर 5 km पर  एक दूसरा गावं है। 4 km पर वही एक थाना भी है। दुर्घटना वाले गांव व् दूसरे गावं के मध्य 2 कम में एक चिकत्सालय भी है। 3 km  पर एक बहुत बड़ा मैदान भी है। 

अब उम्मीदवारों को अपने ग्रुप के साथ अपनी बुद्धि, साहस, धैर्य का परिचय देते हुए समस्या का समाधान करना है। 

10. प्रोग्रेसिव ग्रुप टास्क (PGT)

प्रोग्रेसिव ग्रुप टास्क को परिभाषित करे, तो इसमें एक बाधा दी गयी होती है, जो की एक बिंदु से शुरू होती और आखरी बिंदु पर समाप्त होती है। इन बाधाओं को पर करने के लिए उम्मीदवारों को कुछ आवश्यक सामग्री दी जाती है, जिसके सहारे यह बाधा पार करनी होती है, ये सामग्री निम्न है :-
  1. रस्सी।
  2. बल्ली। 
  3. पटरा। 

11. ग्रुप  ओब्स्टेकल रेस (GOR)

ग्रुप ओब्स्टेकल रेस को परिभाषित किया जाये, तो इसमें एक बाधा को ग्रुप के साथ दौड़ पार करनी होती है। इस दौड़ के कुछ अपने नियम होते है, जिनका पालन सभी ग्रुप के उम्मीदवारों को करना होता है। इस दौड़ में यद् उम्मीदवार या ग्रुप इस दौड़ के किसी भी का उल्लंघन करेगा, तो सजा पुरे ग्रुप को भुगतनी होगी। जिसमे कुल 6 बाधाएं होती, जो ग्रुप इन 6 बाधाओं को पहले पार करेगा वही ग्रुप इस दौड़ को जीतेगा।

6 बाधाएं जो निम्न है :-
  1. रैंप एंड जम्प। 
  2. स्नेक जम्प। 
  3. स्पाइडर वेब। 
  4. डबल वाल एंड बल्ली। 
  5. हाई वाल। 
  6. रैंप एंड स्लाइड। 

12. हाफ ग्रुप टास्क (HGT)

हाफ ग्रुप टास्क को परिभाषित किया जाये, तो यह प्रोग्रेसिव ग्रुप टास्क से बहुत मिलता जुलता है। इस टास्क में ग्रुप दो बराबर हिस्सों में विभाजित किया जाता है। इन दोनों ग्रुप को एक सामान ही टास्क पूरा करने को दिया जाता है।  इस टास्क का मुख्य उद्देश्य उन उम्मीदवारों को एक अवसर देना, जो वे यह सोच रहे थे कि उन्होंने प्रोग्रेसिव ग्रुप टास्क में अपना सर्वश्रेष्ट देने में सक्षम नहीं थे। 
इस टास्क को पूरा करने के लिए उमीदवारो को सामग्री दी जाती है, जिसके उपयोग से उमीदवार अपना ग्रुप टास्क पूरा करते है। 
यह सामग्री निम्न प्रकार से है :-
  1.  रस्सी। 
  2. बल्ली। 
  3. पटरा। 
  4. टास्क पूरा करने के लिए 10 से 15 मिनट का समय दिया जाता है। 

13 . लेक्चररेट । 

लेक्चररेट  को परिभाषित करे, तो इसमें किसी एक विषय पर उम्मीदवारों को लेक्चर देना होगा। लेक्चर देने के लिए उम्मीदवार को हाल ही में घटी घटनाओ के बारे में ज्ञान व् जानकारी का होना अति आवश्यक है। यह घटनाएं देश व् विदेश से सम्बंधित हो सकती है। इस टेस्ट से यह मालूम किया जाता है कि सामाजिक मुद्दों पर उम्मीदवारों का ज्ञान व् उनकी राय क्या है। 

14 .  इंडिविजुअल ओब्स्टेकल (IO)

इंडिविजुअल ऑब्स्टेकल को परिभाषित किया जाये, तो इसमें प्रत्येक उम्मीदवार को स्वयं अकेले दी गयी एक बाधा को पार करना होता है।   इस टेस्ट  में कुल 10 बाधाएं होती है, जो की निम्न है :-
  1. सिंगल रैंप। 
  2. जम्प ओवर बार्बेड वायर्स। 
  3. वाकिंग ओवर ज़िग-ज़ैग बीम। 
  4. स्क्रीन जम। 
  5. वाकिंग ओवर पैरेलल रोप। 
  6. टार्ज़न स्विंग। 
  7. डबल प्लेटफार्म जम्प। 
  8.  डबल डिच। 
  9. कमांडो वाक। 
  10.  टाइगर लीप। 

15.  कमांड टास्क (CT)

कमांड टास्क को परिभाषित किया जाये ,तो यह प्रोग्रेसिव ग्रुप टास्क और हाफ ग्रुप टास्क के ही जैसा सामान है। इसमें अंतर् इतना है कि ग्रुप के प्रत्येक उम्मीदवार को ग्रुप लीड करने का अवसर दिया जाता है, वह उम्मीदवार जो लीडर है, वह ग्रुप में से 2 या 3 उम्मीदवार को चुनता है, लीडर उम्मीदवार को आदेश देता है की वह उसके कहे अनुसार बाधाओं को पार करे। यदि बाधा पर करने में कोई समस्या आती है ,तो ये उम्मीदवार अपने लीडर से समस्या का हल जानेगे न की की ग्रुप के किसी उम्मीदवार से कोई बात करेंगे, जब तक टास्क समाप्त नहीं होता। 
टास्क समाप्त करने के लिए आपको 10 से 15 मिनट का समय मिलेगा। 

16.  फाइनल ग्रुप टास्क (FGT)

फाइनल ग्रुप टास्क परिभाषित किया जाये, तो यह उम्मीदवारों को अपनी काबिलियत साबित करने का आखिरी मौका होता है। 
यह टास्क प्रोग्रेसिव ग्रुप टास्क व् हाफ ग्रुप टास्क जैसा ही सामान होता है, बस अंतर् इतना है कि इस टास्क में उम्मीदवारों को केवल एक ही बाधा को पार करना होता है। इस टास्क में क्षेत्र समनांतर रेखा से घिरा होता है, जिसे प्रारंभ रेखा व्  समापन रखा कहा जाता है। दो रेखओं के बीच की ज़मीन उम्मीदवार व् सामग्री दोनों  लिए सीमा से बाहर है। इस बाध्य सीमा के बाहर कुछ समाग्री मौजूद होती है, इनका उपयोग कर सभी उम्मीदवार व् सहायक सामग्री के साथ प्रारंभ रेखा से समापन रेखा तक पहुंचना होता है। 

टास्क समाप्त करने के लिए 15 से 20 मिनट का समय मिलता है।

जज एडवोकेट जनरल पद की भर्ती के लिए एसएसबी पाठ्यक्रम SSB syllabus for - JAG - judge advocate general entry scheme जज एडवोकेट जनरल पद की भर्ती के लिए एसएसबी पाठ्यक्रम SSB syllabus for - JAG - judge advocate general entry scheme Reviewed by Advocate Pushpesh Bajpayee on April 01, 2020 Rating: 5

No comments:

lawyer guruji ब्लॉग में आने के लिए और यहाँ पर दिए गए लेख को पढ़ने के लिए आपको बहुत बहुत धन्यवाद, यदि आपके मन किसी भी प्रकार उचित सवाल है जिसका आप जवाब जानना चाह रहे है, तो यह आप कमेंट बॉक्स में लिख कर पूछ सकते है।

नोट:- लिंक, यूआरएल और आदि साझा करने के लिए ही टिप्पणी न करें।

Powered by Blogger.