एक भारत एक इमरजेंसी नंबर -112 क्या है ? One India one emergency helpline number-112.

www.lawyerguruji.com

नमस्कार दोस्तों,
आज के इस लेख में आप सभी को " सिंगल इमरजेंसी नंबर 112" आपातकालीन प्रतिक्रिया सहायता प्रणाली के बारे में बताने जा रहा हु।
एक भारत एक इमरजेंसी नंबर -112 क्या है ? One India one emergency helpline number-112.

एक भारत एक इमरजेंसी नंबर 112 क्या है ?
देश में महिलाओ और बच्चो के प्रति बढ़ते अपराधों पर लगाम लगाने के लिए गृह मंत्रालय द्वारा आपातकालीन प्रतिक्रिया सहायता प्रणाली एक भारत एक इमरजेंसी नंबर 112 समस्त नागरिकों के लिए चालू किया है। यह इमरजेंसी नंबर 112, देश में आपात की स्तिथि में नागरिकों तक सहायता पहुंचाने का कार्य करती है। जिसके लिए देश के सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों मे एक आपातकालीन प्रतिक्रिया केंद्र स्थापित किया जायेगा। इन केन्द्रो में आपको पुलिस सहायता, अग्नि शमन, स्वास्थ्य और अन्य सेवाओं से सम्बंधित सहायता प्रदान की जाएगी। यह सेवा 24 घंटे व् सातों दिन उपलब्ध रहेगी और आप लैंडलाइन या मोबाइल फ़ोन से 112 पर कॉल कर सहायता प्राप्त कर सकेंगे। यह एक भारत एक इमरजेंसी नंबर हर जगह निशुल्क है। 

एक भारत एक इमरजेंसी नंबर 112 की खासियत क्या है ?
  1. सम्पूर्ण भारत देश के लिए एक इमरजेंसी नंबर 112,
  2. यह सेवा नागरिकों के लिए 24 x 7 उपलब्ध रहेगा। 
  3. आपातकालीन प्रतिक्रिया वाहनों की लाइव ट्रैकिंग। 
  4. पुलिस, अग्नि शमन, चिक्तिसा, प्राकृतिक आपदा प्रबंधन टीमों कार्य करेंगी। 
  5. राज्य और केंन्द्र शासित प्रदेशों में एक केंद्रीकृत नियंत्रण केंद्र आपातकालीन सेवाओं में सहायता प्रदान करने के लिए होगा।
  6. आपातकालीन अथिति में निर्णय लेने में सुधर करता है, जो की आपात की स्थिति में प्रतिक्रिया समय को कम करता है। 
  7. आपात की स्थिति में नागरिक सहायता के लिए फ़ोन, SOS, SMS, ई-मेल, वेब और पैनिक बटन का उपयोग कर सकेंगे। 
  8. फ़ोन कॉल, SOS, SMS , Web request, और पैनिक बटन का उपयोग करते ही ऑटोमैटिक पीड़ित व्यक्ति की मौजूदा स्थान का पता चल जायेगा।
  9. पीड़ित व्यक्ति के स्थान का पता चलते ही निकटम आपातकालीन प्रतिक्रिया वाहन पहुंच कर सहायता प्रदान करेगी।

एक भारत एक नंबर 112  (पैनिक बटन ) का उपयोग कब कर सकते है ?
एक भारत एक एमर्जेन्सी नंबर 112, गृह मंत्रालय द्वारा शुरू करने का मुख्य उद्देश्य देश में बढ़ते अपराधों रोकने और इनपर लगाम लगाने के लिए चालू किया गया। जब भी आप आपको लगता है कि आपकी सुरक्षा खतरे में है या आपको मेहसूस होता है की कोई आपराधिक घटना घटने वाली है, तो पैनिक बुतों का उपयोग आपको अपने फ़ोन का पॉवर ऑन ऑफ़ बटन दबा कर SOS अलर्ट को सक्रिय करना होगा। पावर बटन के दबाते ही आपके मौजूदा स्थान की जानकारी राज्य के नियंत्रण कक्ष को भेज दिया जायेगा। आपके स्थान की जानकारी के पहुँचते शहर के कॉल टेकर के GIS मैप पर प्रदर्शित करने लगेगी और आप तक तुरंत सहायता पहुँचायी जाएगी। 

कैसी सहायता प्रदान की जाएगी ?
एक भारत एक इमरजेंसी 112 द्वारा आपको निम्न प्रकार की आपातकालीन स्थित में सहायता प्रदान की जा सकेगी। 
  1. महिला सुरक्षा,
  2. बाल संरक्षण,
  3. फायर अलार्म,
  4. अपना स्थान भूल जाने पर,
  5. आपात की स्थित में चिकित्सा,
  6. पुलिस से सहायता प्राप्त करने के लिए। 
112 इमरजेंसी नंबर से आपातकालीन स्थिति में सहायता कैसे प्राप्त करे ?
  1. फ़ोन से 112 पर कॉल करके। 
  2. 112 मोबाइल ऐप को फ़ोन पर इंस्टॉल कर। 
  3. महिलाओ और बच्चो के मामले में SHOUT सुविधा का प्रयोग करने के लिए 112 ऐप का उपोयग करे। 
  4. अपने मोबाइल फ़ोन से पैनिक बटन को सक्रिय करने के लिए पॉवर ऑन ऑफ बटन को 3 बार दबाये।
  5. राज्य की ई आर एस एस वेबसाइट पर लॉगिन कर अपना SOS सन्देश भेज  कर सहायता प्राप्त कर सकते है। 
  6. ई आर एस एस को अपनी समस्या का विवरण करते हुए ई-मेल भेज कर। 
एक भारत एक इमरजेंसी नंबर -112 क्या है ? One India one emergency helpline number-112. एक भारत एक इमरजेंसी नंबर -112 क्या है ? One India one emergency helpline number-112. Reviewed by Advocate Pushpesh Bajpayee on June 23, 2019 Rating: 5

No comments:

lawyer guruji ब्लॉग में आने के लिए और यहाँ पर दिए गए लेख को पढ़ने के लिए आपको बहुत बहुत धन्यवाद, यदि आपके मन किसी भी प्रकार उचित सवाल है जिसका आप जवाब जानना चाह रहे है, तो यह आप कमेंट बॉक्स में लिख कर पूछ सकते है।

नोट:- लिंक, यूआरएल और आदि साझा करने के लिए ही टिप्पणी न करें।

Powered by Blogger.