जीरो प्रथम सुचना रेपर्ट (Zero First Information Report) किसे कहते हैं, और ये किन परिस्थितयों में दर्ज कराई जा सकती है।

www.lawyerguruji.com
 जीरो प्रथम सुचना रिपोर्ट  (Zero First Information Report) किसे कहते हैं, और ये किन परिस्थितयों में दर्ज कराई जा सकती है। 
जीरो प्रथम सुचना रेपर्ट (Zero First Information Report) किसे कहते हैं, और ये किन परिस्थितयों में दर्ज कराई जा सकती है।


 जीरो प्रथम सुचना रिपोर्ट (Zero First Information Report) वह रिपोर्ट है जो किसी आपराधिक घटना की सुचना व्यक्ति द्वारा अपने क्षेत्रीय स्थान से अलग पुलिस  स्टेशन में दर्ज कराई जाती है क्योकि कुछ घटनाये ऐसी होती है जो हैं जगह देख कर नहीं घटती है।   जैसे :
हत्या, रेप,और एक्सीडेंट जैसी घटनाएं और अपराध है जो की जगह देख नहीं होते है ऐसे में इन अपराधों  की सुचना तुरंत नजदीकी पुलिस स्टेशन को देकर शिकायत दर्ज कराई जाती है और बाद में इस शिकायत को उपरोक्त थाने में भी स्थानांतरण कराया जा सकता है सकता हैं।

अक्सर प्रथम सुचना रिपोर्ट (First Information Report)  दर्ज करते समय इस बात का ध्यान रखा जाता है कि जिस स्थान में घटना घटित हुई है उसी से संबंधित क्षेत्रीय थाने में ही इसकी शिकायत दर्ज कराई जाये ताकि आगे की कार्यवाही में किसी प्रकार की कोई समस्या न उतपन्न हो। लेकिन कई बार ऐसी स्थिति आती हैं जब पीड़ित व्यक्ति को विपरीत और विषम परिस्थित में किसी बाहरी पुलिस थाने में ही  प्रथम सुचना रिपोर्ट (First Information Report) दर्ज करने की जरुरत पड़  जाती है।
लेकिन ज्यादातर यह देखा कि पुलिस अपने क्षेत्रीय सीमा से बाहरी क्षेत्र में घटित घटना के बारे में उतना गंभीर रूप से ध्यान नहीं देते है।  लेकिन यह ज्ञात हो की प्रथम सुचना रिपोर्ट (First Information Report) हर व्यक्ति का अधिकार भी है। इसीलिए सरकार ने ऐसी विचित्र परिस्थितयों में भी हर पीड़ित व्यक्ति के अधिकारों को सुरक्षित रखने के लिए जीरो प्रथम सुचना रेपर्ट (Zero First Information Report) का प्रावधान बनाया है, ताकि पीड़ित व्यक्ति बिना किसी देरी के तुरंत अपराध के सम्बन्ध में नजदीकी पुलिस स्टेशन में अपनी शिकायत को दर्ज करवा  सकता हैं और अब में इस केस को उपरोक्त थाने में भी स्थानांतरण कराया जा सकता हैं।

अब सवाल यह उठता है कि किन परिस्थितयों में  जीरो प्रथम सुचना रिपोर्ट  (Zero First Information Report) दर्ज कराइ जाती है।  

आपके इस सवाल का जवाब lawyerguruji के पास है की किन परिस्थितयों में  जीरो प्रथम सुचना रिपोर्ट  (Zero First Information Report) दर्ज कराइ जाती है।
हत्या, रेप,और एक्सीडेंट जैसी घटनाएं और अपराध है जो की जगह देख नहीं होते है या तो ऐसी घटनाएं किसी उपरोक्त थाने की सिमा से बहार घटित हो, ऐसे मामलो में तुरंत कार्यवाही की मांग होती है।  लेकिन  प्रथम सुचना रिपोर्ट (First Information Report) के बिना कानून किसी भी प्रकार की कार्यवाही करने में सक्षम नहीं होता है , अतः ऐसे मामलो में मात्र कुछ प्रत्यक्षदर्शी और घटना से सम्बंधित जानकारियों की सहायता से व्यक्ति अपनी शिकायत नजदीकी पुलिस स्टेशन में दर्ज करवा सकता है, ध्यान रखे कि शिकायत लिखित रूप में ही दर्ज कराये और  प्रथम सुचना रिपोर्ट (First Information Report)की कॉपी में  पुलिस अधिकारी के हस्ताक्षर और पुलिस स्टेशन की मुहर जरूर लगी हो।

 ये ज्ञान रहे की FIR दर्ज कर कानूनी प्रक्रिया को आगे बढ़ाने की सारी  जिम्मेदारी पुलिस वालो का प्रधान उदेश्य होता है , अतः कोई भी पुलिस वाला सिर्फ यह कहकर किसी व्यक्ति की FIR दर्ज करने नहीं मना कर सकता कि ये मामला हमारे क्षेत्र से बाहर है।

 जीरो प्रथम सुचना रिपोर्ट  (Zero First Information Report) दर्ज करने की प्रक्रिया।  
 जीरो प्रथम सुचना रिपोर्ट (Zero First Information Report) लिखित या  रूप दोनों में दर्ज कराई जा सकती हैं, परन्तु लिखित शिकायत अधिक प्रभावशाली होती है बजाए मौखिक के।


जीरो प्रथम सुचना रेपर्ट (Zero First Information Report) किसे कहते हैं, और ये किन परिस्थितयों में दर्ज कराई जा सकती है। जीरो प्रथम सुचना रेपर्ट (Zero First Information Report) किसे कहते हैं, और ये किन परिस्थितयों में दर्ज कराई जा सकती है। Reviewed by Lawyer guru ji on गुरुवार, अक्तूबर 05, 2017 Rating: 5

कोई टिप्पणी नहीं:

Thanks for reading my article .

Blogger द्वारा संचालित.